॥ वक्त ॥
वक्त से समझौता कर लो वक्त किसी की नहीं सुनता अपने ढंग से चलता है यह अपने ढंग से है कहता वक्त से समझौता कर लो वक्त किसी का नहीं होता अर्श से फर्श पर बिठा देता फर्श से अर्श पे है ले जाता वक्त से समझौता कर लो यह किसी के लिये नहीं रूकता राजा को भी रंक बना देता रंक भी राजा बन जाता वक्त से समझौता कर लो व…
Image
वैशाखी है पर्व खुशी का
वैशाखी है पर्व खुशी का, मधुरिम  खुशियां बांटे। मलय पवन सुख समृद्धि की पाती जग सम्मुख बांचे। हर्षित जीवन, अम्बर, उपवन, भू,  कानन, गिरि, घाटी, भ्रमर-तितलियां नाच रहे, उत्साह उदधि धर माथे।। धन-धान्य से परिपूर्ण सदन, घर-घर खुशियां छाईं। चौपालें अब लगीं बोलने मंगल गीत बधाई। मधुर नेह की सरिता भारत-उर बहत…
Image
भीड़ में भेड़ बनने का मजा
भजनखबरी साहब ने देशभक्ति की नई पाठशाला खोल रखी है। सोचा मैं भी प्रवेश ले लूँ। किसे मालूम बैठे बिठाए महात्मा गांधी, नेहरु, सरदार पटेल, भगत सिंह, चंद्रशेखर, सुभाष चंद्र बोस ही बनने का मौका मिल जाए! इनमें से कुछ बनने का अवसर न भी मिले तो कोई बात नहीं कम-से-कम भारत रत्न, पद्म भूषण, पद्मश्री के योग्य तो…
Image
सूरज सा तेजस्वी
तेजस्वी   सूरज   जेसा  हो, ओर   चन्द्र   सी  शीतलता, भारत   का   बच्चा-  बच्चा,  पढे  अब   रामायण  गीता। तरूणी  में   हो   लक्ष्मीबाई,  और  बालक  में  भगतसिंह,  राष्ट्र   कल्याण  में  जीना है, मन   में  हो   ऐसा   जज्बा। जान की कीमत  कम  नहीं, कर्म को आगे  रखना  होगा,  बहुत कर  लिया  शांतिपाठ, अब  …
Image
शुभ नववर्ष व नवरात्रि
युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क   इस नवरात्रि फिर से हम सब मिलकर प्रार्थना करें। मां अम्बे हम सबकी कोविड-१९ से सुरक्षा करें । इस नवरात्रि भी हम इस त्यौहार को घर मनाते हैं । खुद सुरक्षित रहकर औरों को संक्रमण से बचाते हैं। करबद्ध होकर मां तुमसे अब यही प्रार्थना करें । माँ पुनः अवतार लेकर रक्तबीज का संहार करे…
Image
कण कण में समाहित राम
राम समाहित कण कण में  राम हीं हैं जग आधार। जड़ चेतन और सभी चराचर के  राम हीं तो हैं आधार।। राम नाम एक शास्वत सत्य है  जिससे बंधा पूरा संसार। राम नाम के एकल डोर से  बंधा हुआ पूरा संसार।। अलग अलग रूप धारण कर  दुष्ट दमन को तत्पर राम । कभी प्रत्यक्ष तो कभी परोक्ष  रूप में दुष्ट दमन फिर करते राम।। जब मर्…
Image