पाक के पूर्व अंपायर असद रऊफ का कार्डियक अरेस्ट से हुआ निधन

पाकिस्तान के लाहौर में जन्मे पूर्व अंपायर असद रऊफ का निधन हो गया है। 66 साल की उम्र में उन्होंने इस दुनिया को अलविदा कहा है। कार्डियक अरेस्ट के कारण उनका निधन हुआ है। उन्होंने 200 से ज्यादा इंटरनेशनल मैचों में अंपायरिंग की थी। इसके अलावा वे आईपीएल जैसे बड़े टूर्नामेंट में भी अंपायरिंग कर चुके थे। हालांकि, 2013 में उनको बैन कर दिया गया था, क्योंकि बीसीसीआई ने उनको सट्टेबाजों के साथ मिला हुआ पाया था। 

आईसीसी एलीट पैनल के पूर्व अंपायर असद रऊफ ने ने 64 टेस्ट (ऑन-फील्ड अंपायर के रूप में 49 और टीवी अंपायर के रूप में 15), 139 एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय और 28 टी20 इंटरनेशनल मैचों में अंपायरिंग की। रऊफ 2000 के दशक के मध्य में पाकिस्तान के सबसे बेहतरीन अंपायरों में से एक थे, जिन्हें 2006 में आईसीसी के एलीट पैनल में जगह मिली थी। उन्होंने 2005 में पहले टेस्ट में अंपायरिंग की थी और 2004 के बाद से एकदिवसीय एलीट पैनल का हिस्सा थे, जो अपने पहले मैच में 2000 में अंपायरिंग करने उतरे थे। 

वह अंपायरिंग सर्किट में एक लोकप्रिय व्यक्ति थे, जिन्होंने अलीम दार के साथ, न्यूट्रल अंपायरों के युग से पहले पाकिस्तानी अंपायरों की प्रतिष्ठा में सुधार करने में अपना योगदान दिया था, लेकिन उनका करियर 2013 में अचानक रुक गया जब उन्हें मुंबई पुलिस ने आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग कांड की जांच में 'वांटेड आरोपी' के रूप में नामित किया, जहां रऊफ अंपायरिंग पैनल का हिस्सा थे।  

बीसीसीआई ने उन पर बैन लगाया था और आईसीसी ने उन्हें एलीट पैनल से बाहर कर दिया था। इसके बाद वे अंपायरिंग करते नजर नहीं आए और कुछ ही समय पहले वे पाकिस्तान में एक दुकान में कपड़े और जूते बेचते नजर आए थे। उन्होंने क्रिकेट से दूरी बना ली थी और 2013 से ही क्रिकेट देखना बंद कर दिया था। उन्होंने कहा था कि मैं जो काम छोड़ देता हू, उसे पूरी तरह छोड़ देता हूं।