ईमानदार पुलिस अधीक्षक के सपनों को साकार करने में खरे उतर रहे है गाजीपुर थाना के एस आई संग दो सिपाही

तमंचा के साथ अभियुक्तों को गिरफ्तार कर भेजा जेल

संदीप कुमार, गाजीपुर फतेहपुर। जनपद के ईमानदार पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर चलाए जा रहे अपराधियों की धरपकड़ अभियान के तहत गाजीपुर थाने में तैनात हल्का नंबर 4 के एस आई  खरा उतरता नजर आ रहा है। मालूम रहे गाजीपुर थाना क्षेत्र के अंतर्गत हल्का नंबर 4 में तैनात एस आई रामकृपाल के साथ-साथ कांस्टेबल रणविजय यादव और कुंभकरण पटेल अपनी बेहतर कार्यशैली के चलते क्षेत्र की आम जनता के बीच चर्चा में बेशुमार नाम हासिल किए हैं। 

क्षेत्रीय आम जनता में चर्चा इस बात की है कि उप निरीक्षक रामकृपाल क्षेत्र में आम जनता की परेशानियों का निस्तारण करते नजर आ रहे हैं और उन्होंने क्षेत्र में गैर कानूनी काम करने वाले अराजक तत्वों के दिलों में खाकी के खौफ की दहशत पैदा कर दी है। कहा कि  उपरोक्त एस आई अपराधियों  में खौफ भर कर छेत्र को पूरी तरह अपराध मुक्त करने का बीड़ा उठाया है। 

वहीं जहां सब आम जनता के साथ साथ शासन प्रशासन 76 स्वतंत्रता दिवस की खुशियां मना रहे थे वही उप निरीक्षक अपने दो कांस्टेबलों के साथ ब खूबी ड्यूटी निभा रहे थे जिसके चलते गाजीपुर थाना क्षेत्र के खांसेनपुर गांव का सलमान पुत्र रहमत अली गांव में ही नाई की दुकान खोले हुए था जोकि मुखबिर की सटीक सूचना मिली कि सलमान कि दुकान में एक तमंचा रखा हुआ है । 

सूचना मिलते ही रामकृपाल अपने दोनों कांस्टेबल रणविजय यादव और कुंभकरण पटेल को साथ लेकर मौके पर पहुंचकर 315 बोर का तमंचा और एक जिंदा कारतूस के साथ धर दबोचा और सलमान को थाने ले आई जिसको अपराध संख्या 183 /22 धारा 3/25 आर्म्स एक्ट पंजीकृत अभियुक्त को  न्यायालय भेज दिया। खांसेनपुर गांव में चर्चा जंगल की आग कि तरह फैली हुई है कि सलमान अवैध असलाहो का व्यापार करता था इससे पहले भी चोरी के कई मामलों में इसका नाम आया था लेकिन ठोस सबूत न मिलने पर कार्यवाही नहीं हुई थी।