लेखपाल रिश्वत लेते गिरफ्तार

मथुरा। एंटी करप्शन आगरा की टीम ने बुधवार को गोवर्धन तहसील के एक लेखपाल को रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया है।लेखपाल के पकड़े जाने के बाद विभाग में हड़कंप मचा हुआ है। इससे भ्रष्टाचार का खुलासा होता है कि तहसील में बिना रिश्वत किसी का कोई काम नहीं होता। सभी के रेट फिक्स है। गोवर्धन तहसील में तैनात लेखपाल प्रमोद दीक्षित को एंटी करप्शन आगरा की टीम ने औरंगाबाद निवासी कैलाश चंद प्रजापति से खेत का दाखिला खारिज कराने के नाम पर पन्द्रह हजार की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया है। 

बताया जाता है शिकायतकर्ता ने भरतपुर रोड पर एक खेत खरीदा था जिसका दाखिला खारिज कराने के लिए लेखपाल प्रमोद दीक्षित द्वारा डेढ़ लाख की मांग की गई। शिकायत कर्ता द्वारा उनको सवा लाख रुपए दे भी दिए गए। उसके बाबजूद वह कार्रवाई करने के लिए टालमटोल करते रहे। कैलाश चंद ने आगरा में एंटी करप्शन विभाग को उसकी शिकायत की। शिकायत मिलते ही पुलिस अधीक्षक बबलू कुमार के आदेश पर इंस्पेक्टर कुशल वीर सिंह ने मय टीम के थाना हाईवे क्षेत्र अंतर्गत कृष्ण धाम कॉलोनी में 15000 लेते हुए लेखपाल प्रमोद दीक्षित को गिरफ्तार कर लिया। प्रभारी निरीक्षक हाईवे ने बताया कि एंटी करप्शन टीम लेखपाल को पेशी के लिए मेरठ न्यायालय ले गई है। थाने में अभियोग पंजीकृत किया गया है।