एसएसपी ने किया मोनू हत्याकाण्ड का खुलासा

पत्नी व प्रेमी ने मिलकर की थी मोनू की गला घोंटकर हत्या

सहारनपुर। एसएसपी विपिन टाडा ने आज पुलिस लाईन स्थित अपने कार्यालय में आयोजित पत्रकार वार्ता में मोनू हत्याकाण्ड का खुलासा करते हुए मृतक की पत्नी व एक अन्य अभियुक्त द्वारा मोनू की अगोछे से गला घोंटकर हत्या कर दी गयी थी और एक झूठी तहरीर थाने पर दर्ज करायी गयी थी। 

एसएसपी विपिन टाडा ने बताया कि थाना नागल पुलिस को इस सम्बन्ध में शीघ्र खुलासा करने का आदेश दिया गया था जिस पर त्वरित कार्यवाही करते हुए थाना नागल पुलिस ने मनोज उर्फ मोनू पुत्र जयपाल व सुनीता पत्नी मोनू निवासीगण ग्राम नैनसोब थाना नागल को हिरासत में ले लिया। पूछताछ के दौरान दोनोे ने बताया कि सुनीता ने मृतक मोनू की नागल थाने पर झूठे तहरीर दी थी। मोनू उपरोक्त की तल्हेड़ी बुजुर्ग साखन नहर के पास थाना देवबंद में अंगोछे से गला घोंटकर हत्या की गयी थी। गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम में प्रभारी निरीक्षक नागल देशराज सिंह, एसआई मोहित कुमार, आरक्षी सुनील राणा, चिराग बंसल, अंशु शामिल रहे। 

उन्होंने बताया कि गत दिवस थाना नागल क्षेत्रान्तर्गत गांव नैनशोब के बीते 2 दिनों से संदिग्ध परिस्थितियों में घर से लापता हुए नैनसोब निवासी मोनू कुमार पुत्र तेल्लूराम 28 वर्षीय युवक की साखन नहर के समीप गन्ने के खेत से लाश मिली थी। गुरुवार को नैनशोभ निवासी मोनू अपने नलकूप पर गया था लेकिन वह घर वापस नहीं लौटा। उसकी प्लैटिना बाइक नलकूप से ही लावारिस हालत में खड़ी मिली थी, उसके बाद उसकी पत्नी सुनीता ने अपने परिजनों को लेकर थाना नागल पुलिस को उसकी गुमशुदगी की तहरीर दी थी। जिसका सफल अनावरण करते हुए थाना नागल पुलिस ने हत्याकाण्ड का खुलासा किया।