तीखा तीर

धीरे धीरे कीमत को बढाने बाले 

निर्धनो को ज़िन्दा  रहने  दे 

हे    दुनियां    बाले 

खाने पीने में कर को लगाने बाले 

न  भूखे. को   कोई  मुझे  मारे 

हे देशों  के  रखवाले 

     --- वीरेन्द्र तोमर