धूमधाम से मनाई गई महा कवि गोस्वामी तुलसीदास जी की जयंती

तुलसीदास की रचना पर आधारित अंत्याक्षरी प्रतियोगिता का भी हुआ आयोजन

दुल्लहपुर/गाजीपुर। क्षेत्र के‌ पंडित मदन मोहन मालवीय इंटर कालेज सिखड़ी में श्रावण मास के शुक्ल पक्ष की सप्तमी के दिन वृहस्पतिवार को श्रद्धा पूर्वक स्मरण करते हुए उनकी विविध रचनाओं पर आधारित अंत्याक्षरी प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। कार्यक्रम की शुरुआत मुख्य वक्ता श्री डा व्यास मुनि राय ने तुलसीदास के चित्र के समक्ष दीप प्रज्जवलित कर किया। क्रमशः विद्यालय की विविध कक्षाओं के छात्र/ छात्राओं की परस्पर प्रतियोगिता में तुलसीदास की विविध रचनाओं का सस्वर पाठ भी किया गया। 

प्रतियोगिता में अव्वल आने वाली कक्षा का मान बढ़ाते हुए विद्यालय द्वारा पुरस्कृत किया गया।  कार्यक्रम के अंत में समाज के सच्चे पथ प्रदर्शक गोस्वामी तुलसीदास पर व्याख्यान माला का भी आयोजन किया गया। जिसमें वक्ताओं ने तुलसीदास के जीवन पर प्रकाश डालते हुए उनकी विविध रचनाओं का उल्लेख किया। 

कार्यक्रम के मुख्य वक्ता जनपद के अति चर्चित राजकीय सीटी इ०का०गाजीपुर के अवकाश प्राप्त हिन्दी विभागाध्यक्ष डॉ. व्यास मुनि राय ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि महा कवि गोस्वामी तुलसीदास जी एक ऐसे काल खंड के अवतार थे जब हिन्दू समाज निराशा रूपी सागर में डुबकी लगा रहा था। हिंदू समाज के सच्चे पथ प्रदर्शक के रूप में तुलसीदास को कभी विस्मृत नहीं किया जा सकता। कार्यक्रम की अध्यक्षता विद्यालय के प्रधानाचार्य पारसनाथ राय ने तथा संचालन गौरीशंकर पाण्डेय ने किया।इस मौके पर विद्यालय के शिक्षक और भारी तादाद में छात्र छात्राएं उपस्थित थे।