जांच कमेटी पहुंची बांके बिहारी मंदिर

मथुरा। वृंदावन में श्री कृष्ण जन्माष्टमी पर बांके बिहारी मंदिर में मंगला आरती के दौरान हुए हादसे के बाद मुख्यमंत्री द्वारा द्वारा गठित की जांच टीम गई बुधवार को दूसरे दिन बांके बिहारी मंदिर पहुंची। जांच समिति के अध्यक्ष पूर्व डीजीपी सुलखान सिंह ने बताया हम तीन बिंदुओं पर जांच कर रहे हैं। पहला ऐसा क्यों हुआ, हादसे के दोषी कौन हैं और ऐसे हादसों की पुनरावृत्ति ना हो। मंदिर में पूर्व डीजीपी ने हादसे को लेकर मंदिर के सेवायतों और जिले के अधिकारियों से जानकारी की। 

मंदिर में जांच के दौरान एकत्रित हुए गुसाईंयो ने पूर्व डीजीपी से कहा कि इस घटना की जिम्मेवारी निर्धारित होनी चाहिए हमारी केवल एक ही मांग है जो दोषी है उनके खिलाफ दंडनीय कार्रवाई की जाए। उन्होंने एक स्वर में कहा कि इतने दिनों से बड़े बड़े आयोजन हम लोग कराते आ रहे हैं लेकिन कभी कोई घटना नहीं हुई। 

सेवायत शैलेन्द्र गोस्वामी ने कहा कि हम बचपन से ऐसी भीड़ देखते आ रहे है घटना क्यों हुई कौन इसके लिए जिम्मेवार है।जांच समिति के सदस्य अलीगढ़ के कमिश्नर गौरव दयाल ने भी इससे पूर्व जांच समिति के अध्यक्ष मंगलवार को गोपनीय तरीके से बांकेबिहारी मंदिर पहुंचे थे। जांच के बाद रिपोर्ट शासन और मुख्यमंत्री को जाएगी जांच ने प्रशासनिक और पुलिस अधिकारियों की धड़कने बढ़ा दीं हैं।इस दौरान डीएम नवनीत सिंह चहल एसएसपी अभिषेक यादव मथुरा वृंदावन विकास प्राधिकरण उपाध्यक्ष नगेन्द्र प्रताप सीओ सदर प्रवीण मलिक आदि मौजूद रहे।