तीखा तीर

इसारों पर  ही चल  रही 

कैसा लागा इनको  रोग 

 जो माने  वह  शेष  सब 

समझे   जनता   संयोग

विरोधी  दंश को झेलिये 

चल  रहा  कड़ा  प्रायोग 

        --- वीरेन्द्र तोमर