तृणमूल को झटका, त्रिपुरा टीएमसी अध्यक्ष पद से हटाए गए सुबल भौमिक

 अगरतला : अखिल भारतीय तृणमूल कांग्रेस कमेटी ने बुधवार को अपनी प्रदेश इकाई के अध्यक्ष सुबल भौमिक को पद से हटा दिया। सियासी गलियारों में भौमिक के भाजपा के साथ अपनी दूसरी पारी शुरू करने की अटकलें लगाई जा रही हैं। उल्लेखनीय है कि त्रिपुरा में विधानसभा चुनाव अगले वर्ष होने हैं।

टीएमसी ने एक बयान जारी कर यह घोषणा की कि सुबल भौमिक को त्रिपुरा तृणमूल कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष के पद से मुक्त किया जा रहा है। वे अन्य पदों पर यथावत बने रहेंगे। हालांकि, पार्टी के बयान में यह भी कहा गया है कि राज्य प्रभारी राजीव बनर्जी और राज्यसभा सांसद सुष्मिता देव नए नियुक्ति तक संगठनात्मक गतिविधियों को देखेंगे। दूसरी ओर, सूत्रों से जानकारी मिल रही है कि सुबल भौमिक भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के त्रिपुरा दौरे के समय भाजपा में शामिल हो सकते हैं। हालांकि, अभी तक सुबल भौमिक ने अपने पत्ते नहीं खोले हैं।

सूत्रों की मानें तो पूर्व मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब और मौजूदा केंद्रीय राज्य मंत्री एवं सामाजिक न्याय राज्य मंत्री प्रतिमा भौमिक के करीबी नेताओं का एक वर्ग भौमिक की पार्टी में वापसी के विरोध में हैं। मुख्यमंत्री एवं भाजपा प्रदेश अध्यक्ष माणिक साहा और उपमुख्यमंत्री जिष्णु देव वर्मा भौमिक की वापसी के पक्ष में हैं। 

सूत्रों ने कहा कि भौमिक ने वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले देब के साथ अनबन के बाद भाजपा छोड़ दी थी। तत्कालीन मुख्यमंत्री ने पश्चिम त्रिपुरा निर्वाचन क्षेत्र से भौमिक की उम्मीदवारी को ठुकरा दिया था, जिससे वह नाराज हो गये थे। भौमिक तब कांग्रेस में शामिल हो गए और पश्चिम त्रिपुरा से प्रतिमा भौमिक के खिलाफ चुनाव लड़ा, लेकिन हार गए थे।