पूर्व भारतीय क्रिकेटर मदन लाल ने मोहम्मद शमी को टी20 टीम से बाहर करने के लिए टीम इंडिया के चयनकर्ताओं से किया सवाल

1983 वर्ल्ड कप विजेता और महान तेज गेंदबाज मदन लाल ने मोहम्मद शमी को टी20 टीम से बाहर करने के लिए टीम इंडिया के चयनकर्ताओं से सवाल किया है। शमी ने 2021 टी20 वर्ल्ड कप के बाद भारतीय टीम के लिए सबसे छोटे फॉर्मेट का एक भी मैच नहीं खेला है। प्रीमियर पेसर का आईपीएल 2022 में गुजरात टाइटंस के साथ एक यादगार सीजन था, क्योंकि उन्होंने 16 मैचों में 20 विकेट लेकर अपनी टीम को खिताब दिलाने में मदद की थी।

हालांकि, अच्छे प्रदर्शन के बावजूद IPL 2022 के बाद T20I टीम में मोहम्मद शमी अपनी जगह वापस पाने में विफल रहे, क्योंकि भारत ने भुवनेश्वर कुमार, अवेश खान और अर्शदीप सिंह को चुना। अब वे जसप्रीत बुमराह और हर्षल पटेल के चोटिल होने के बावजूद टीम का हिस्सा नहीं हैं तो ऐसे में उनके ऑस्ट्रेलिया में अक्टूबर-नवंबर में होने वाले टी20 वर्ल्ड कप टीम में भी जगह बनाने की संभावना बहुत कम है।

मदन लाल ने स्पोर्ट्सकीड़ा से बात करते हुए कहा, "मोहम्मद शमी को टी20 वर्ल्ड कप के लिए टीम में जरूर होना चाहिए। बुमराह के बाद वह हमारे सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज हैं। मैं ऐसे गेंदबाज की तलाश करूंगा, जो मुझे विकेट दिला सके। मैं ऐसे गेंदबाज नहीं चाहता जो केवल रन गति को रोके रखें। बल्लेबाज इस प्रारूप में रन बनाते रहेंगे। रनों के प्रवाह को रोकने का एकमात्र तरीका विकेट लेना है।" 

दाएं हाथ के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी ने आठ साल के लंबे करियर में 17 टी20 इंटरनेशनल मैच ही खेले हैं, जिसमें उन्होंने 18 विकेट लिए हैं, लेकिन उनका इकॉनमी रेट साढ़े 9 से ज्यादा का है। हालांकि, वनडे क्रिकेट में उनके आंकड़े अच्छे हैं। इसी को लेकर मदन लाल ने चयनकर्ताओं की आलोचना की है कि शमी को टी20 इंटरनेशनल क्रिकेट में एशिया कप से पहले मौके नहीं दिए गए।  

उन्होंने कहा, "मोहम्मद शमी को नहीं चुनने पर भारतीय चयनकर्ता बड़ी गलती करेंगे। वह एक महान गेंदबाज हैं और उन्होंने अतीत में ऑस्ट्रेलिया में अच्छा प्रदर्शन किया है। मुझे समझ नहीं आता कि वे उन्हें टी20 के लिए क्यों नहीं चुन रहे हैं। आपको लगता है कि वह उन लोगों से बेहतर गेंदबाज नहीं है जो अभी खेल रहे हैं? वह विश्व क्रिकेट के सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजों में से एक हैं।"