IND vs ENG: कप्तानी मिलने पर और खतरनाक हो जाते हैं तेज गेंदबाज पैट कमिंस, भारत के कप्तान बुमराह ने भी किया कमाल

भारत और इंग्लैंड के बीच एजबेस्टन टेस्ट में जसप्रीत बुमराह भारतीय टीम की कप्तानी कर रहे हैं। लंबे समय बाद किसी गेंदबाज को टीम इंडिया का कप्तान बनाया गया है। हालांकि, बुमराह सिर्फ इस मैच के लिए भारत के कप्तान हैं, लेकिन बतौर कप्तान बुमराह ने पहले ही मैच में कमाल का प्रदर्शन किया है। इस मैच में उन्होंने स्टुअर्ट ब्रॉड के एक ओवर में कुल 35 रन बटोरे। इसमें 29 रन उनके बल्ले से आए थे। यह टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में सबसे महंगा ओवर रहा। इससे पहले रॉबिन पीटरसन ने अपने ओवर में 28 रन दिए थे।

बल्लेबाजी के बाद गेंदबाजी में भी बुमराह ने कमाल किया और इंग्लैंड में एक टेस्ट सीरीज में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज बने। मौजूदा सीरीज में वो 21 विकेट ले चुके हैं। अभी भी उनके पास विकेटों की संख्या में इजाफा करने का मौका है। 

मौजूदा समय में ऑस्ट्रेलियाई टेस्ट टीम की कप्तानी भी एक तेज गेंदबाज के हाथों में है। पैट कमिंस टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया के कप्तान हैं और उनकी अगुआई में टीम कमाल कर रही है। एशेज सीरीज में इंग्लैंड को पीटने से लेकर पाकिस्तान जाकर टेस्ट सीरीज जीतना हो या श्रीलंका को उसके घर में हराना हो। बतौर कप्तान पैट कमिंस सुपर हिट हैं। 

उन्होंने इस दौरान बल्ले और गेंद से भी कमाल किया है। कमिंस अब तक आठ मैचों में कप्तानी कर चुके हैं और 21.57 के औसत से 151 रन बना चुके हैं। उनका स्ट्राइक रेट भी 62.65 का है और नाबाद 34 रन सबसे बड़ा स्कोर है। वहीं, गेंदबाजी में कमिंस ने 15 पारियों में 34 विकेट लिए हैं। इस दौरान दो बार वो पांच विकेट ले चुके हैं। गेंद के साथ उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 38 रन देकर पांच विकेट है। 

क्रिकेट के खेल में आमतौर पर बल्लेबाजों को कप्तान बनाया जाता है। ऐसा माना जाता है कि बल्लेबाजों के पास फील्डिंग के दौरान सोचने का ज्यादा समय होता है। इतिहास के सबसे सफल कप्तानों में अधिकतर बल्लेबाज ही हैं। इसके बावजूद ऑस्ट्रेलिया में पैट कमिंस को कप्तानी दी गई है और वो कमाल कर रहे हैं। वहीं, भारत के नियमित कप्तान रोहित शर्मा के कोरोना संक्रमित होने पर बुमराह को टीम की कमान मिली है और पहला मैच खत्म होने से पहले ही वो बल्लेबाजी में लारा का रिकॉर्ड तोड़ चुके हैं। मैच में भारतीय टीम मजबूत स्थिति में है और यह मैच जीतने पर 15 साल बाद इंग्लैंड में सीरीज भी अपने नाम करेगी। 

अगर बुमराह भारत को यह मैच जिता पाते हैं तो भविष्य के कप्तान की रेस में शामिल हो जाएंगे। रोहित के बाद उन्हें नियमित रूप से टेस्ट टीम की कमान मिल सकती है।