बीमा कंपनी कर्मचारियों ने जताया विरोध

मथुरा। ट्रेड यूनियंस के संयुक्त मोर्चा (जेएफटीयू) के आह्वान पर सार्वजनिक बीमा कंपनियों के अधिकारी कर्मचारी ने अगस्त 2017 से लंबित अपनी वेतन संशोधन और अन्य मांगों को रखते हुए राष्ट्रव्यापी हड़ताल पर रहे। उन्होंने यूनाइटेड इंडिया इंश्योरेंस कंपनी के सिविल लाइंस मथुरा स्थित मंडल कार्यालय पर प्रबंधन एवं केंद्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया और कार्यालय में पूर्ण तालाबंदी रखी।

सभी बीमा संगठन अपनी अन्य जायज मांगों के साथ-साथ अगस्त 2017 से लंबित वेतन संशोधन की मांग के लिए निरंतर संघर्ष कर रहे हैं, परंतु 5 वर्ष बीतने के बावजूद जिप्सा प्रबंधन एवं सरकार ने इसे अभी गंभीरता से नहीं लिया है। इस अवसर पर जनरल इंश्योरेंस एंपलाइज एसोसिएशन के कार्यकारिणी समिति सदस्य एवं मथुरा इकाई के सचिव संजय शर्मा ने कहा कि इतना समय बीत जाने के बावजूद हाल ही में 22 जून 2022 को जिप्सा प्रबंधन एवं डीएफएस (सरकार) के साथ एक ऑनलाइन मीटिंग हुई थी, जिसमें उन्होंने बहुत ही अपमानजनक वेतन वृद्धि का ऑफर दिया जिसे सभी संगठनों ने एक स्वर में खारिज कर दिया।

उन्होंने मांग की कि भारतीय जीवन बीमा निगम के समकक्ष हमारा भी वेतन संशोधन शीघ्र हीlइस अवसर पर अनुराग शर्मा, मनोज सिंघल, विनोद चौरसिया, दिलीप सारस्वत, वीरेंद्र सिंह, रामनारायण शर्मा, संजीव शर्मा, प्रदीप सारस्वत, कमल बाबू शर्मा, संजय यादव, कृष्ण मुरारी गुप्ता, राजेश पारीक, अनिल कुलश्रेष्ठ, जय प्रकाश, राज कुमार वरुण, रमेश चंद, सिद्धार्थ कुमार, अशोक कुमार, अमित अवस्थी,श्री नारायण दीक्षित, दाऊजी, रामवीर, मुकेश शर्मा, श्रवण शर्मा एवम नेम सिंह आदि बीमा अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित रहे।