महिलाओं को क्यों आते हैं बार-बार चक्कर, ये समस्याएं हो सकती हैं परेशानी का कारण

आज कल के बिजी लाइफस्टाइल के कारण महिलाएं अपने स्वास्थ्य का ख्याल नहीं रख पाती। जिसके कारण उन्हें सिरदर्द, थकान, कमजोरी जैसी समस्याएं होने लगती हैं। महिलाओं को कमजोरी पर भी चक्कर आ सकते हैं। 

इसके अलावा किसी विटामिन की कमी, थकान, नींद न पूरी होने के कारण या फिर किसी गंभीर बीमारी के कारण भी चक्कर आ सकते हैं। यदि बार-बार महिलाओं को चक्कर आते हैं तो इस समस्या को इग्नोर नहीं करना चाहिए। तो चलिए जानते हैं कि महिलाओं को बार-बार चक्कर क्यों आते हैं...

ब्लड प्रेशर कम होने के कारण 

ज्यादा काम करने के कारण भी कई बार महिलाओं का ब्लड प्रेशर कम हो जाता है। ब्लड प्रेशर कम होने के कारण भी चक्कर आ सकते हैं। चक्कर आने पर आपकी आंखों के सामने अंधेरा, कुछ समय के लिए बेहोशी और हाथ-पैर ठंडे पड़ जाने जैसे लक्षण दिखाई दे सकते हैं।

 यदि आपको काफी समय से लो ब्लड प्रेशर की समस्या है तो भी आपको चक्कर आ सकते हैं। आपको इस समस्या में नमक वाली पानी पीना चाहिए। इसके अलावा यदि आप किसी भी दवाई का सेवन करना चाहते हैं तो डॉक्टर की सलाह लेकर ही दवाई खाएं।

हीमोग्लोबिन की कमी के कारण 

हीमोग्लोबिन की शरीर में कमी होने के कारण भी चक्कर आ सकते हैं। खासकर महिलाओं में यह समस्या ज्यादा देखने के मिलती है। हीमोग्लोबिन रक्त को ऑक्सीजन देने का कार्य करता है। रक्त में इसकी कमी होने के कारण भी महिलाएं एनिमिया का शिकार हो सकती है। 

रुटीन में आयरन की कमी के कारण, प्रेग्नेंसी और पीरियड्स के दौरान अधिक ब्लीडिंग होने के कारण महिलाओं के शरीर में हीमोग्लोबिन की मात्रा कम हो सकती है। हीमोग्लोबिन की कमी होने पर आपको सिरदर्द, कमजोरी और थकान जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। आप इसकी कमी को पूरा करने के लिए  हरी पत्तेदार सब्जियां, गाजर, चुकंदर, अंडे और ड्राई फ्रूट्स का सेवन कर सकती हैं।

विटामिन-बी12 की कमी होने के कारण

प्रेग्नेंट और स्तनपान करवाने के कारण महिलाओं के शरीर में विटामिन-बी12 की कमी हो सकती है। इस समस्या में आपको शारीरिक कमजोरी, कम भूख लगना, कब्ज, थकान जैसे लक्षण दिखाई दे सकते हैं। इसके अलावा मुंह में छाले पड़ना, त्वचा में पीलापन होना और चलने में कमजोरी होना भी इसके ही लक्षण हो सकते हैं।  जिसके कारण आपको चक्कर भी आ सकते हैं। आप एनिमल प्रोडक्ट्स और डेयरी उत्पादों को अपनी रुटीन में शामिल करके विटामिन-बी12 की कमी पूरी कर सकते हैं।

माइग्रेन जैसी समस्या के कारण 

माइग्रेन के कारण भी आपको चक्कर आ सकते हैं। इसमें आपको तेज सिरदर्द, उल्टी मितली जैसी समस्याएं भी हो सकती हैं। खासकर महिलाओं को यह समस्या हार्मोन्स असुंतिलत होने के कारण हो सकती है। माइग्रेन से बचने के लिए आपको अपने लाइफस्टाइल में कुछ बदलाव करने चाहिए। दिन में रोज 10-12 गिलास पानी जरुर पिएं, चॉय-कॉफी का सेवन भी करें। ज्यादा मिर्ची वाला खाना न खाएं, रोजाना सैर की आदत अपनाएं। डाइट में छाछ, सूप और नारियल पानी का सेवन भी जरुर करें। 

कान में इंफेक्शन होने के कारण  

यदि आपके कान में किसी तरह की चोट लगी है या कोई इंफेक्शन हो गया है तो भी आपको चक्कर ओने की समस्या हो सकती है। इस समस्या को वर्टिगो भी कहा जाता है। यह आपको थोड़े समय या फिर ज्यादा देर के लिए हो सकती है। वर्टिगो में आपके चेहरे पर पसीना आना, कमजोरी महसूस होना, बहुत ज्यादा सिरदर्द होना जैसी लक्षण दिखाई दे सकते हैं।