वाहरी छाता पुलिस लुटेरों को बेल निर्दोष को जेल, लुटे व्यक्ति को ही बना दिया आरोपी भेजा जेल, सीएम से गुहार

( उत्तम शर्मा) 

मथुरा। वाहरी पुलिस तेरे खेल निराले जिसे चाहे जेल में डाले। ऐसा ही मामला कस्बा छाता का प्रकाश में आया है। इस समय दबंगों की मिलीभगत से पुलिस निर्दोष को दोषी और दोषियों को छोड़ने का काम कर रही है।यहां पुलिस ने लूट और अपहरण करने वाले वालों को छोड़ दिया और पीड़ित निर्दोष को जेल की हवा खिला दी।जनसत्ता दल लोकतांत्रिक पार्टी के जिला अध्यक्ष ओम प्रकाश सिंह जादौन ने मुख्यमंत्री को भेजे पत्र में कहा है 30 मई को उसके भाई राजकुमार सिंह निवासी कठमालिया कस्बा व थाना छाता के साथ दंबग चवन्नी उर्फ धीरज पुत्र धर्म निवासी सींगू थोक छाता व एक अज्ञात व्यक्ति ने असलाह के बल पर अपहरण कर लगभग 80 हजार रुपए मोबाइल व बाइक लूट ली।

 बदमाश पीड़ित को लक्ष्य स्कूल पैगाम रोड छाता पर छोड़ गए। पीड़ित जैसे तैसे अपने घर पहुंचा और परिजनों को आपबीती बताई। जिसकी सूचना पुलिस को दी गई। पुलिस ने आरोपियों से रुपए मोबाइल व बाइक बरामद कर ली। जिलाध्यक्ष जब रिपोर्ट दर्ज  कराने की कहने लगे तो पुलिस ने इस मामले में रिपोर्ट दर्ज करने से इंकार कर दिया।जब प्रार्थी नहीं माना तो पुलिस ने राजकुमार पर झूठी लूट की शिकायत के आरोप जेल पहुंचा दिया। राजकुमार के साथ ओम प्रकाश को भी झूठे मुकदमे में फंसाने व एनकाउंटर की धमकी दी।इसी प्रकरण में जब ओम प्रकाश सिंह ने सीओ छाता से फोन पर बातचीत की तो उन्होंने कहा की ये तो छेड़छाड़ का मामला है। जब ओम प्रकाश ने पूछा की कोई लड़की सामने तो लाओ जिनके साथ छेड़खानी हुई है तो सीओ छाता ने अपने आप को बचाते हुए कहा की जो जानकारी मुझे पुलिस ने दी है।

 वो यही है जो भी बात करनी है थाना जाकर करो। ये ऑडियो भी खूब वायरल हो रही है।फिर इसी के चलते ओम प्रकाश ने थाना के एक सिपाही से बात की तो उस ऑडियो में सिपाही साफ साफ बोलता नजर आ रहा है। ये आरोप झूठा लगाया गया है। सिपाही ने कहा की वहां हम जानकारी करने गए तो वहा बताया की ऐसा कोई छेड़छाड़ का मामला नहीं है।छाता थानाध्यक्ष अशोक कुमार यादव अपने आप को बचाने के लिए सीमा महिला को 40-50 हजार रुपये का प्रलोभन  दे रहे हैँ।महिला से कहा कि 24 घंटे के करीब होने जा रहे हैं पर कोई छाता की महिला तैयार नहीं हो पाई बहन जी हमने छेड़छाड़ का मामला दिखा दिया है उसकी रिकॉर्डिंग वायरल हो चुकी है।

आप हमारी वर्दी बचा लें आप बलात्कार का आरोप लगा दो राजकुमार पर आप बाहर की रहने वाली हो आप पर किसी का दबाव नहीं आएगा।अगर राजकुमार का घर वाला या छाता का दबाव देता है तो हम आपके लिए 24 घंटे खड़े हैं और पैसा की जरूरत हो तो और पैसा दे देंगे।  महिला मना कर देती है।महिला कहती है आपकी इतनी हिम्मत हो गई आप मेरे से इस तरह की बातें कर रहे हैं।आपके साथ महिला पुलिस भी नहीं है।आप यहां से जाइए या मुझे तुम्हारे खिलाफ कार्रवाई करनी पड़ेगी तो वहां से इंस्पेक्टर छाता चले जाते हैं। इस घटना को लेकर क्षेत्र में कई ऑडियो वायरल हो रही हैं। जिलाध्यक्ष ओम प्रकाश सिंह को व उनके परिवार को थाना अध्यक्ष से जान माल का खतरा बना हुआ है।

उन्होंने सीएम योगी से सुरक्षा की कही है।जिला अध्यक्ष ने इस घटना से वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को अवगत कराया तो उन्होंने इसकी जांच एसपी देहात को सौंप दी है। जिलाध्यक्ष ने  मुख्यमंत्री के अलावा जनसत्ता दल लोकतांत्रिक पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष विधायक कुंवर रघुराज सिंह उर्फ राजा भैया को भी अवगत कराया है। अब देखना यह होगा कि पीड़ित को कैसे न्याय मिलेगा क्योंकि पीड़ित तो पुलिस की कार्यप्रणाली से लगभग 24 दिन जेल काट आया है।जब इस संबध में एसपी आरए से बात करनी चाही तो उनका फोन बंद व इंस्पेक्टर छाता का फोन नोटरीसेबल रहा।