मलाई काटने वाले पुलिस कर्मी सेटिंग बैठाने की जुगाड़ में लगे

अजय दुबे कन्नौज

लापरवाह पुलिस कर्मियों की खैर नहीं - पुलिस अधीक्षक

कन्नौज में पुलिस अधीक्षक कुंवर अनुपम सिंह के चार्ज लेते हैं जिले में पुलिस की सतर्कता देखने को मिल रही है वही जो अभी तक कमर में पिस्टल लगाकर घूमते नजर आते थे वह है अब वर्दी मैं देखे जा सकते हैं अब वह रंगबाजी में नहीं हकीकत में ड्यूटी पर नजर आ रहे हैं जिन्होंने एसपी प्रशांत कुमार के कार्यकाल में  खूब मलाई काटी अब वह इधर-उधर जुगाड़ फिट करने में लगे हैं। कुछ ऐसे भी सिपाही और दरोगा है कोतवाली और चौकी चला रहे हैं जिन्होंने कभी ड्यूटी के समय भी वर्दी नहीं पहनी अब वह अपनी सेटिंग बैठाने में लगे हुए हैं अब देखना यह होगा कि क्या कुंवर अनुपम सिंह से ऐसे  लापरवाह एवं मलाई काटने वाले पुलिस कर्मियों की सेटिंग बैठती है या नहीं। फिलहाल जो पुलिस कप्तान के तेवर देखने को मिल रहे  उससे तो नहीं लगता सेटिंग बाज दरोगा या सिपाहियों की दाल गलेगी। जो काम करेगा वही टिक पाएगा बाकी लापरवाह पुलिसकर्मियों पर कार्यवाही की तलवार तो लटकती रहेगी।

गुरसहायगंज कोतवाली में तैनात ऐसे कई दरोगा और सिपाही हैं जो पिछले कई वर्षों से एक ही जगह जमे हुए हैं कुछ ऐसे हैं जो पुलिस कप्तान से अपनी जुगाड़ बिठा कर धन उगाही में ही मस्त रहते थे। खनन से लेकर मामलों को निपटाना व रफा-दफा करना ऐसे ही सिपाहियो की जिम्मेदारी पिछले कई वर्षों से बनी हुई है।जिन्हे फरियादी आज तक समझ ही नहीं सका की यह सिपाही है क्योंकि वो हमेशा सादी वर्दी मैं ही रहता था।

कन्नौज में पुलिस विभाग की जिम्मेदारी तेजतर्रार पुलिस कप्तान डॉ अनुपम सिंह के हाथों में है अब ना सेटिंगबाज दरोगा और ना ही सेटिंग बाज सिपाहियो की मनमानी चलेंगे बल्कि ऐसे पुलिसकर्मियों पर पुलिस कप्तान की निगाह भी रहेंगी। फिलहाल कुछ भी हो जो पुलिसकर्मियों ने पिछले पुलिस अधीक्षक प्रशांत कुमार वर्मा के कार्यकाल में लापरवाही आरामदायक नौकरी की है अब शायद ऐसे लापरवाह पुलिस कर्मियों को दिक्कतों से सामना करना पड़ सकता है क्योंकि अब तेजतर्रार पुलिस कप्तान लापरवाही किसी भी दशा में बर्दाश्त नहीं करेंगे इसी का नतीजा है कि अब पुलिस थानों और चौकियों से बाहर निकलकर सड़क पर देखी जा सकती है जिसका उदाहरण भी है 1 दिन के चेकिंग अभियान में कई सैकड़ा वाहनों के चालान हुए वाहन चेकिंग से वाहन चालकों में हड़कंप भी मचा है।बही शराबियों में भी नए पुलिस अधीक्षक की सख्ती का असर साफ तौर पर नजर आ रहा है।