ध्वस्त होती मठिया को बचाने की कोशिश शुरू

दुल्लहपुर/गाजीपुर। क्षेत्र के‌ शिवपुर ग्रामपंचायत स्थित अति प्राचीन मठिया के समाधि बाबा स्थल पर सोमवार की दोपहर एक चौपाल का आयोजन किया गया। जिसकी अध्यक्षता मंदिर के पुजारी जगदीश यति ने किया। चौपाल में उपस्थित ग्रामीणों ने पांच सौ साल पुरानी मठिया के पतन को लेकर चिंता जताई।साथ ही हर हाल में मठिया की सुरक्षा,पुनर्निर्माण और प्रबंधन को लेकर गंभीर मंथन किया। गौरतलब हो कि सिद्ध पीठों में सुमार शिवपुर की मठिया का कौतूहल भरा इतिहास है। 

वजनदार वेशकीमती अष्टधातु की स्थापित मूर्तियों के प्रति लोगों का अटूट विश्वास आज भी बना हुआ है।कई बार स्थापित अष्टधातु की मूर्तियां चोरों द्वारा तोड़ने चुराने के बावजूद यथा स्थान उपलब्ध पाए जाने की चर्चा लोगों की जुबान पर है। यहां तक कि जिसने भी मठिया की तरफ लालच भरी निगाहों से देखकर धृष्टता करने का प्रयास किया वह किसी न किसी अंग से अंग होगया। चौपाल में मंदिर में समय से पूजा पाठ चिराग बाती को लेकर  प्रमुखता से चर्चा की गई।

साथ ही मठिया की जमीन पर अवैध कब्जा करने वालों से मठ की जमीन मुक्त कराने पर बल दिया गया। मंदिर के पुजारी जगदीश यति ने बताया कि मंदिर की जमीन पर मनबढों का अतिक्रमण है। शासन प्रशासन की मदद से खाली कराने पर विचार किया जा रहा है।इस मौके पर शिवधनी चौहान, फूलचंद राम, श्रीकांत राम,लल्लन उपाध्याय,निर्मल चौहान, मुसाफिर चौहान, दुर्बल चौहान,सुखबीर चौहान, बीरबल चौहान, चंदन खरवार, सुभाष प्रजापति, गुड्डू यादव,बबलू दुबे, गोपाल मिश्र,सुनिल दुवे आदि उपस्थित थे।