अवैध मकान ढहाने वाले प्रयागराज विकास प्राधिकरण का ही नक्शा नदारद

कोर्ट में खुली पोल,पेश नही कर पाये नक्शा

प्रयागराज। प्रयागराज शहर में बिना नक्शा पास हुए अवैध रूप से बने मकानों को ढहा रहा प्रयागराज विकास प्राधिकरण यानि पीडीए के सिविल लाइंस स्थित अपने ही भवन का नक्शा गायब है। खुलासा इलाहाबाद हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस राजेश बिंदल व जस्टिस जे जे मुनीर की खंडपीठ के समक्ष जनहित याचिका की सुनवाई के दौरान हुआ। कोर्ट ने पीडीए के वकील से इंदिरा भवन स्थित विकास प्राधिकरण के भवन का नक्शा पेश करने को कहा था जिसके जवाब में पीडीए के वकील ने बताया कि नक्शा ढूंढा जा रहा है, पर अभी मिला नहीं है। वकील ने इसके लिए कोर्ट से कुछ समय की मांग की। 

 कोर्ट ने नाराजगी जताते हुए पीडीए के चेयरमैन को आगामी 02 अगस्त को तलब कर लिया है। मोहम्मद इरशाद की ओर से दाखिल जनहित याचिका में पीडीए इंदिरा भवन कार्यालय के नीचे दुकानों के अतिक्रमण करने, पोडियम, बरामदों में अवैध दुकानों को हटाने को लेकर याचिका दाखिल की थी। खंडपीठ ने अपनी पिछली सुनवाई के दौरान पीडीए को अपने भवन का नक्शा पेश करने का निर्देश दिया था, लेकिन कल की सुनवाई में भी प्रयागराज विकास प्राधिकरण पीडीए सिविल लाइंस स्थित अपने ही भवन का नक्शा पेश नहीं कर पाया।