गोशालाओं में सन्नाटा, सड़कों पर घूम रहे मवेशी

अधिकारियों की अनदेखी से किसानों की फसलें हो रहीं बर्बाद

उरई/जालौन। कदौरा ब्लॉक के अधिकांश गोशालाओं में सन्नाटा है। भूखे-प्यासे मवेशी हाईवे पर भटक रहे हैं। इस वजह से दुर्घटनाएं होने की भी आशंका है, लेकिन अधिकारियों को इसकी सुध नहीं है। अधिकारियों का कहना है कि खेतों में अभी फसल नहीं है, इसलिए गोवंश को छुट्टा छोड़ दिया है। बता दें कि कदौरा क्षेत्र में 50 से अधिक गोशालाएं हैं। 

इन गोशालाओं में पांच हजार मवेशियों के रहने की सुविधा है, लेकिन आवारा पशु यहां न रहकर छुट्टा घूम रहे हैं। हमीरपुर जोल्हूपुर हाईवे पर बवीना, सुजानपुर, हरचन्द्रपुर तिराहा, बागी फार्म हाउस, पंडौरा गांव के पास हाईवे पर सैकड़ों मवेशी डेरा जमाए हैं। क्षेत्र के जगदीश, राजेन्द्र, संजय सिंह ने बताया कि सरकारी धनराशि का बंदरबांट किया जा रहा है। किसान अपनी फसलों के बर्बाद होने पर परेशान हैं। कुछ दिनों पहले एनजीटी की टीम गोशालाओं की हालत देखने पहुंची थी।

 गोशालाएं खाली होने पर टीम ने नाराजगी जताई थी। एनजीटी की पांच सदस्यीय टीम ने पंडौरा और चतेला की गोशाला की स्थिति देखकर नाखुशी जाहिर की थी। जिस पर ब्लॉक के अधिकारी जवाब नहीं दे पाए थे। बावजूद इसके अधिकारी संज्ञान नहीं ले रहे हैं। इस संबंध में बीडीओ बृजकिशोर कुशवाहा ने कहा कि खेतों में फसल न होने के कारण गौशालाएं खाली हैं।