पीएम नेशनल अप्रेंटिसशिप मेला आज, 200 से अधिक स्थानों पर होगा आयोजन

PMNAM Mela 2022: कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय करिअर के अवसरों और व्यावहारिक प्रशिक्षण को बढ़ावा देने के उद्देश्य से देशभर में प्रधानमंत्री कौशल भारत मिशन के हिस्से के रूप में 11 जुलाई, 2022 को प्रधानमंत्री राष्ट्रीय प्रशिक्षुता यानी अप्रेंटिसशिप मेला आयोजित कर रहा है। इस एक दिवसीय कार्यक्रम में 36 सेक्टर और 1000 से अधिक कंपनियां और 500 अलग-अलग प्रकार के ट्रेड शामिल होंगे। 

कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय ने कहा कि वह 11 जुलाई को देश भर में 200 से अधिक स्थानों पर इस कार्यक्रम की मेजबानी करेगा। हालांकि, प्रधानमंत्री नेशनल अप्रेंटिसशिप मेला कर्नाटक में 12 जुलाई 2022 को, जम्मू - कश्मीर में 18 जुलाई, 2022 को, बिहार में 25 जुलाई, 2022 को और मध्य प्रदेश में 20 से 22 जुलाई, 2022 तक आयोजित किया जाएगा। 

पांचवीं पास से लेकर ग्रेजुएट तक हो सकते हैं शामिल

स्किल मिनिस्ट्री ने कहा कि अब तक 1,88,410 आवेदकों ने प्रशिक्षुता मेले में भाग लिया है और 67,035 अप्रेंटिसशिप ऑफर की जा चुकी हैं। कार्यक्रम में भाग लेने के लिए उम्मीदवारों के पास पांचवीं-12वीं कक्षा पास प्रमाण-पत्र, कौशल प्रशिक्षण प्रमाण-पत्र, आईटीआई डिप्लोमा या स्नातक डिग्री होनी चाहिए। मेले के दौरान उम्मीदवार संबंधित कंपनियों द्वारा ऑफर की जा रहे 500 से अधिक ट्रेडों जैसे वेल्डिंग, इलेक्ट्रिकल वर्क, हाउसकीपिंग, ब्यूटीशियन, मैकेनिक वर्क आदि में से पसंद और योग्यता के आधार पर किसी एक को चुन सकेंगे।

उतर प्रदेश में 25 जिलों में आयोजित होगा

11 जुलाई, 2022 को होने वाला प्रधानमंत्री नेशनल अप्रेंटिसशिप मेला (Pradhan Mantri National Apprenticeship Mela)  उत्तर प्रदेश के 25 जिलों में आयोजित किया जा रहा है। इनमें फतेहपुर, इटावा, सिद्धार्थ नगर, चंदौली, बाराबंकी, बांदा, बलिया, बहराइच, बागपत, अमरोहा, अमेठी, कन्नौज, कासगंज, कुशी नगर, खीरी, मैनपुरी, मथुरा, जालौन, पीलीभीत, प्रतापगढ़, रायबरेली, रामपुर, शाहजहांपुर, श्रावस्ती, सोनभद्र आदि शामिल हैं।

राजस्थान के 11 जिलों में भी होगा आयोजन

वहीं, राजस्थान में भी 11 जुलाई को ही प्रधानमंत्री राष्ट्रीय प्रशिक्षुता यानी अप्रेंटिसशिप मेले (Pradhan Mantri National Apprenticeship Mela) का आयोजन 11 जिलों में किया जा रहा है। इनमें भरतपुर, बूंदी, चुरू, दौसा, गंगानगर, प्रतापगढ़, राजसमंद, सवाई माधोपुर, सीकर, सिरोही, टोंक आदि शामिल हैं। 

PMNAM मेला के उद्देश्य?

उम्मीदवारों और प्रतिष्ठानों के बीच हायरिंग प्लेटफॉर्म बनना।

प्रशिक्षुता यानी अप्रेंटिसशिप में अवसरों का लाभ उठाने के लिए उम्मीदवारों की सुविधाजनक प्रशिक्षण देना।

संभावित उम्मीदवारों की पहचान करने के लिए कंपनियों को सुविधा प्रदान करना और प्रशिक्षुओं का चयन करवाना।

मेले में भाग लेने के लिए एमएसएमई में अभियान चलाना और बढ़ावा देना, बेरोजगार युवाओं तक कंपनियों की सीधी पहुंच बनाना।

NCVET से मान्यता प्राप्त प्रमाण-पत्र भी मिलेगा

कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय के सचिव राजेश अग्रवाल ने प्रधानमंत्री नेशनल अप्रेंटिसशिप मेले के बारे में कहा कि यह देश भर में प्रतिभाशाली व्यक्तियों के लिए अतिरिक्त रोजगार के अवसर प्रदान करेगा। इनका प्राथमिक उद्देश्य अधिक प्रशिक्षुओं की भर्ती करना है। उम्मीदवार राष्ट्रीय व्यावसायिक शिक्षा और प्रशिक्षण परिषद (NCVET) से मान्यता प्राप्त प्रमाण-पत्र भी अर्जित करेंगे, जिससे प्रशिक्षण के बाद उनकी रोजगार क्षमता में सुधार होगा।

अग्रवाल ने कहा कि इस कार्यक्रम का प्रमुख उद्देश्य कंपनियों को अधिक अपरेंटिस को नियुक्त करने के लिए प्रोत्साहित करना है, साथ ही प्रशिक्षण और व्यावहारिक कौशल के माध्यम से नियोक्ताओं को उनकी क्षमता का पता लगाने और विकसित करने में मदद भी मिलेगी। अधिक जानकारी के लिए उम्मीदवार dgt.gov.in/appmela2022/ पर विजिट कर सकते हैं। यहां आपके राज्य के मेला केंद्रों की जानकारी भी उपलब्ध है।