अग्निपथ योजना में अभ्यर्थियों की उम्र सीमा बढ़ाना स्वागत योग्य: योगी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सेना में युवाओं को भर्ती के लिये प्रेरित एवं प्रोत्साहित करने के मकसद से केन्द्र सरकार द्वारा लागू की गयी अग्निपथ योजना के तहत भर्ती की अधिकतम उम्र सीमा को बढ़ाने के सरकार के फैसले का शुक्रवार को स्वागत किया है। गौरतलब है कि केन्द्र सरकार ने विभिन्न राज्यों में इस योजना के विरोध में उठे स्वर को देखते हुए भर्ती की अधिकतम सीमा को दो साल बढ़ाकर 23 वर्ष कर दिया है। योगी ने कहा कि सरकार के इस फैसले से असंख्य युवाओं में उम्मीद और उत्साह का संचार होगा। योगी ने ट्वीट कर कहा, ‘‘आदरणीय प्रधानमंत्री जी के मार्गदर्शन में‘अग्निपथ योजना-2022 के लिए अधिकतम प्रवेश आयु को 21 वर्ष से बढ़ाकर 23 वर्ष करने का निर्णय अभिनंदनीय है। असंख्य युवाओं में आशा व उत्साह का संचार करती इस सौगात हेतु आपका हार्दिक आभार प्रधानमंत्री जी। गौरतलब है कि योगी सरकार पहले ही घोषणा कर चुकी है कि अग्निपथ योजना के तहत भर्ती होने वाले ‘अग्निवीरों को उप्र पुलिस एवं अन्य संबद्ध सेवाओं की भर्ती में प्राथमिकता दी जायेगी। योगी सरकार ने युवाओं से अपील की है कि वे दूसरों के बहकावे आकर इस योजना का विरोध न करें। इससे पहले गुरुवार को भी योगी ने युवाओं से अपील की थी, ‘‘युवा साथियो, ‘अग्निपथ योजना आपके जीवन को नए आयाम प्रदान करने के साथ ही भविष्य को स्वर्णिम आधार देगी। आप किसी बहकावे में न आएं। माँ भारती की सेवा हेतु संकल्पित हमारे‘अग्निवीर राष्ट्र की अमूल्य निधि होंगे व उप्र सरकार अग्निवीरों को पुलिस व अन्य सेवाओं में वरीयता देगी। जय हिंद।