गर्मियों में पेरेंट्स ऐसे करें शिशु की देखभाल

मई के महीने की शुरुआत में गर्मी ने अपना कहर बरसाना शुरु कर दिया है। इस बरसती हुई गर्मी में बड़ों के अलावा बच्चों का भी ध्यान रखना बहुत ही जरुरी होता है। अगर बच्चा छोटा है तो पेरेंट्स के लिए और भी मुश्किल काम हो जाता है। छोटे बच्चे शारीरिक तौर पर बहुत ही नाजुक होते हैं। चिलचिलाती गर्मी और लू बच्चों की सेहत के लिए भी बहुत ही खतरनाक होती है। इस मौसम में पेरेंट्स की जिम्मेदारी बच्चों के लिए और भी बढ़ जाती है। तो चलिए आपको बताते हैं कुछ ऐसे तरीके जिनसे आप बच्चे का ख्याल रख सकते हैं। 

कड़कती धूप में न लेकर जाएं 

आप बच्चे को कड़कती धूप में बाहर न लेकर जाएं। सुबह 10 से  5 के बीच बहुत ही गर्मी पड़ती है। इसलिए खासकर इस दौरान आप छोटे बच्चों को बाहर न लेकर जाएं। बच्चों में मेलानिन नाम का हार्मोन बहुत ही कम मात्रा में पाया जाता है। जिसके कारण धूप का सीधा प्रभाव बच्चे की स्किन, बालों और आंखों पर पड़ता है। 

ज्यादा से ज्यादा पानी पिलाएं

आप गर्मी के इस मौसम में बच्चे को बीमारियों से बचाने के लिए ज्यादा से ज्यादा पानी का सेवन करवाएं। पानी बच्चे के शरीर को ठंडा करके हाइड्रेट करने में मदद करता है। अगर बच्चा ज्यादा छोटा है तो उसे समय-समय पर अपना दूध पिलाते रहें। 

फैब्रिक के कपड़े न पहनाएं 

गर्मी के मौसम में आप बच्चे को फैब्रिक के कपड़े भी न पहनाएं। फैब्रिक के कपड़े डालने से बच्चे के शरीर पर रैशेज होने लगते हैं। आप बच्चे को सूती कपड़े पहना सकते हैं। इसको पहनकर बच्चे काफी आरामदायक महसूस करेंगे। इसके अलावा जब भी आप बच्चे को बाहर लेकर जाएं तो उसे सूती कपड़े के साथ कवर करके लेकर जाएं। 

सूती की नैपी पहनाएं

बच्चों की त्वचा बहुत ही नाजुक होती है। गर्मी के कारण उनकी त्वचा पर रैशेज होने लगते हैं। इसलिए आप उन्हें सूती के नैपी ही पहनाएं।  नैपी पहनाने से पहले आप बच्चे की त्वचा पर थोड़ी हवा भी लगने दें। इसके अलावा आप उन्हें बेबी क्रीम या फिर पाउडर भी जरुर लगाएं। 

घमौरियों से बचाएं

गर्मियों में शरीर में पसीना आता है जिसके कारण घमौरियां होने लगती हैं। घमौरियों से बचाने के लिए आप बच्चे को सूती कपड़े ही पहनाएं। बच्चे की घमौरियां दूर करने के लिए आप बेबी पाउडर और  तेल का बिल्कुल भी इस्तेमाल न करें।