उदयपुर घटना पर बोले अमित मिश्रा, इरफान पठान और वेंकटेश प्रसाद

राजस्थान के उदयपुर में नुपुर शर्मा के विवादित बयान का समर्थन करने पर एक व्यक्ति की गला काटकर हत्या कर दी गई। इस घटना ने सबको झकझोर कर रख दिया। दुनिया भर में इसकी आलोचना हो रही है। भारत के खिलाड़ियों ने भी इसकी निंदा की है। पूर्व ऑलराउंडर इरफान पठान, पूर्व तेज गेंदबाज वेंकटेश प्रसाद और लेग स्पिनर अमित मिश्रा ने इस घटना को दिल दहला देने वाला बताया। उन्होंने इसे इंसानियत को चोट पहुंचाने वाला भी कहा।

इरफान ने कहा कि घटना को अंजाम देने वाला अपराधी किसी भी धर्म को मानने वाला हो, यह सही नहीं है। वहीं, वेंकटेश प्रसाद ने इसे दिल दहला देने वाला कहा। उन्होंने शांति की अपील भी की है। वहीं, अमित मिश्रा ने सवाल उठाया और कहा- उसके मानवाधिकारों के बारे में क्या? उसके परिवार के बारे में क्या? उसके धर्म के बारे में क्या?

इरफान ने ट्वीट किया, ''कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप किस (धर्म) पर विश्वास करते हैं। किसी निर्दोष के जीवन को नुकसान पहुंचाने का मतलब इंसानियत को चोट पहुंचाने जैसा है।'' इरफान ताजातरीन मुद्दों पर सोशल मीडिया पर अपनी राय देते रहते हैं। इस कारण कुछ लोग उनकी आलोचना भी करते हैं।

दूसरी ओर, अमित मिश्रा ने लिखा, ''उदयपुर में पूरी तरह से अराजकता का दृश्य। एक सोशल मीडिया पोस्ट के लिए धर्म के नाम पर एक गरीब टेलर कन्हैया लाल का सिर कलम कर दिया गया है। उसके मानवाधिकारों का क्या? उसके परिवार का क्या? उसके धर्म का क्या?'' अमित मिश्रा टीम इंडिया और आईपीएल से बाहर होने के बाद से सोशल मीडिया पर लगातार सक्रिय हैं। पठान की तरह अब अमित भी ताजा मामलों पर लिखते हैं।

वहीं, वेंकटेश प्रसाद ने कहा, ''उदयपुर में जो हुआ वो वाकई दिल दहला देने वाला है। मैं सभी से इस चुनौतीपूर्ण समय में शांति बनाए रखने की अपील करता हूं। कानून को सख्त से सख्त कार्रवाई करने दें।''

मंगलवार को दो युवक कपड़े का नाप देने के बहाने टेलर की दुकान पर पहुंचे और उस पर धारदार हथियार से वार कर दिए। ताबड़तोड़ हमलों ने उसे संभलने का मौका तक नहीं दिया। उसकी गर्दन कट गई और मौके पर ही मौत हो गई। हमले में दुकान पर काम करने वाला उसका साथी ईश्वर सिंह गंभीर घायल हो गया। उसे इलाज के लिए एमबी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने राजसंमद जिले के भीम से दोनों हत्यारों को गिरफ्तार कर लिया है।