विश्व कप का खिताब दिलाने वाले कप्तान यश ढुल की कामयाबी में उनके परिवार का अहम योगदान रहा



नई दिल्ली: किसी भी इंसान की सफलता में उसके परिवार की अहम भूमिका होती है। भारत को जनवरी 2022 में आइसीसी अंडर-19 वनडे विश्व कप का खिताब दिलाने वाले कप्तान यश ढुल की कामयाबी में भी उनके परिवार का अहम योगदान रहा है। खासतौर पर उनके दिवंगत दादा जी का, जिनका सपना था कि उनका पोता एक दिन क्रिकेट में नाम रोशन करे।

नई दिल्ली के जनकपुरी में रहने वाले विजय सिंह ढुल का घर आज हर कोई जानता है क्योंकि यह घर भारत को इस साल अंडर-19 क्रिकेट विश्व कप दिलाने वाले कप्तान यश ढुल का है। 19 वर्षीय सलामी बल्लेबाज यश ढुल का जन्म 11 नवंबर 2002 को इसी घर में हुआ था। वह आज भारत के उभरते हुए क्रिकेटरों में से एक हैं। यश दिल्ली की रणजी टीम में भी जगह बना चुके हैं और अब उनका लक्ष्य भारतीय टीम में जगह बनाना है। लेकिन एक कमी ऐसी है, जो उन्हें काफी खलती है। यश कहते हैं कि काश आज उनके दादा जिंदा होते, तो वह बेहद खुश होते।

यश के जीवन पर उनके दिवंगत दादा जगत सिंह का काफी प्रभाव रहा है। वह कहते हैं, "जब मैंने क्रिकेट शुरू किया था, उस समय मैं चाहे मैच खेलने जाऊं या अभ्यास करने, वो हमेशा मेरे साथ रहते थे। वह मुझे सलाह देते थे और मेरे खाने-पीने का पूरा ध्यान रखते थे। मुझे कही भी जाना होता था, वो मेरे साथ रहते थे। लेकिन एक दिन रात में सोते हुए उनका साइलेंट हार्ट अटैक से निधन हो गया। मुझे उनकी कमी आज भी खलती है। लेकिन मुझे खुशी है कि मैं उनका सपना कुछ हद तक पूरा कर सका"

दादा के निधन के बाद यश ढुल के पिता विजय सिंह ने अपने बेटे को सफल क्रिकेटर बनाने की जिम्मेदारी उठाई। विजय सिंह एक कास्मेटिक कंपनी में नौकरी करते थे। लेकिन उन्होंने बेटे के भविष्य के लिए नौकरी तक छोड़ दी और हमेशा साये की तरह उसके साथ रहे।

यश ढुल, जब छह साल के थे, वह अपने घर में और गली में बिना बल्ले के खाली हाथ बैटिंग करने की शेडो प्रैक्टिस करते थे। इस बात पर सबसे पहले गौर उनकी मां नीलम ढुल ने किया। उन्होंने यश से पूछा कि क्या उन्हें क्रिकेट खेलना पसंद है तो उन्होंने हां कर दी। इसके बाद, उन्होंने यह बात अपने पति को बताई और फिर यश का एडमिशन एक क्रिकेट अकादमी में करा दिया गया।

यश ने 17 फरवरी 2022 को गुवाहाटी में तमिलनाडु के खिलाफ प्रथम श्रेणी क्रिकेट में पदार्पण किया। दिल्ली के लिए खेलते हुए यश ने पहली पारी में 150 गेंदों में 113 रन ठोके जबकि दूसरी पारी में वह 202 गेंदों में 113 रन बनाकर नाबाद रहे। इस तरह उन्होंने घरेलू क्रिकेट में धमाकेदार आगाज किया। यश ढुल को आइपीएल-15 के लिए मेगा आक्शन में दिल्ली कैपिटल्स टीम ने 50 लाख रुपये में खरीदा। हालांकि उन्होंने इस सीजन एक भी मैच खेलने का मौका नहीं मिला।