इस पेड़ की छाल दिखाएगी असर, यूरिक एसिड में सूजे हुए हाथ-पैर होंगे ठीक

आजकल के खराब लाइफस्टाइल, गलत खानपान और आलस्य के कारण कई तरह की बीमारियां बढ़ती ही जा रही हैं। यूरिक एसिड, थायराइड, डायबिटीज, मोटापा जैसी बीमारियों का खतरा दिन प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है। यूरिक एसिड बढ़ने के कारण जोड़ों में क्रिस्टल्स जमा होने लगता है, जिसके कारण लगातार जोड़ों में दर्द होता है। ऐसे में डॉक्टर उन्हीं चीजों को खाने की सलाह देते हैं, जिन्हें खाने से यूरिक एसिड भी कम हो जाए और दर्द-सूजन जैसी परेशानियों से भी राहत मिल सके। आपको आज एक ऐसी चीज बताएंगे, जिसकी सीमित मात्रा से आप इस परेशानी से राहत पा सकते हैं। 

पीपल के पेड़ की छाल 

आप पीपल के पेड़ की छाल से तैयार किया हुआ काढ़ा पी सकते हैं। इसको लगातार पीने से आपको बढ़े हुए यूरिक एसिड से आराम मिलेगा। 

कैसे करें तैयार काढ़ा? 

. सबसे पहले आप 250 मिलीलीटर पानी में 10 ग्राम पीपल की छाल को धीमी आंच पर पकाएं। 

. इस पानी को तब तक उबालें जबतक यह आधा न रह जाएय 

. आधा होने तक पकने पर काजञढा बनकर तैयार हो जाएगा। 

. आप इस काढ़े को दिन में दो बार पी सकते हैं। 

. इससे आपका बढ़ा हुआ यूरिक एसिड कम हो जाएगा। 

धनिए के पत्ते 

पीपल के पेड़ की छाल के अलावा धनिए के पत्ते भी यूरिक एसिड को कम करने में काम आ सकते हैं। धनिए के पत्तों में प्रोटीन, फॉस्फोरस और विटामिन-के जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं। यदि आपको यूरिक एसिड बढ़ता है तो आप इन्हें अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं। आप धनिए के पत्तों को उबालकर इसका पानी तैयार कर लें। फिर उस पानी को सुबह खाली पेट पीएं। 

पान के पत्ते

आप पान के पत्ते भी यूरिक एसिड को कम करने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं। आप सुबह के समय पान के पत्ते खाएं। यह आपका यूरिक एसिड कम करने में बहुत ही फायदेमंद साबित होंगे। 

करी पत्ता

आप करी पत्ता भी यूरिक एसिड को कम करने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं। नियमित तौर पर सुबह इसका सेवन करने से आपको काफी आराम मिलेगा। आप सुबह खाली पेट करी पत्ते चबा सकते हैं।