वियतजेट ने वियतनाम के लिए चार नए हवाई मार्ग खोले

-अनिल बेदाग़-

मुंबई : वियतजेट ने आधिकारिक तौर पर मुंबई-हो ची मिन्ह सिटी/हनोई मार्गों और नई दिल्ली/मुंबई-फू क्वोक सेवाओं सहित भारत और वियतनाम के शीर्ष गंतव्यों को जोड़ने वाली चार और हवाई सेवाएं शुरू की हैं।

नए मार्गों का शुभारंभ समारोह मुंबई में हो ची मिन्ह सिटी के राजनेताओं की हालिया मुंबई यात्रा के दौरान आयोजित किया गया, जब भारत और वियतनाम के बीच राजनयिक संबंधों की 50वीं वर्षगांठ मनाई गई। इस समारोह में हो ची मिन्ह सिटी की पीपल्स कमेटी की वाइस चेयरवूमैन फान थी थांग, वियतजेट के उच्चाधिकारियों और मुंबई में वियतनाम के महावाणिज्य दूतावास के प्रतिनिधियों ने शिरकत की।

मुंबई-फू क्वोक मार्ग पर 9 सितंबर, 2022 से प्रत्येक सोमवार, बुधवार, शुक्रवार और रविवार को चार साप्ताहिक उड़ानें संचालित की जाएंगी। नई दिल्ली और फू क्वोक के बीच सेवाएं भी 9 सितंबर, 2022 से ही शुरू होंगी तथा प्रत्येक बुधवार, शुक्रवार और रविवार को तीन साप्ताहिक उड़ानें संचालित की जाएंगी। हो ची मिन्ह सिटी/हनोई-मुंबई मार्गों पर जून, 2022 की शुरुआत से हवाई सेवाएं शुरू हो गई हैं।

नई दिल्ली को हो ची मिन्ह सिटी/हनोई से जोड़ने वाली दोनों देशों की पहली सीधी हवाई सेवाओं का परिचालन गत अप्रैल में प्रत्येक मार्ग के लिए प्रति सप्ताह तीन से चार उड़ानों की आवृत्ति के साथ फिर से शुरू हुआ। यात्री अब इन मार्गों के हवाई टिकट बुक कर सकते हैं, जिनका एक तरफ का किराया बहुत ही कम महज 18 अमेरिकी डॉलर है। 

इस अवसर पर वियतजेट के वाइस प्रेजिडेंट गुयेन थान सोन ने कहा, "वियतजेट के वियतनाम-भारत फ्लाइट नेटवर्क के विस्तार से दोनों देशों के बीच यात्रा संपर्क और व्यापार संबंधों को और अधिक बढ़ावा व मजबूती मिलेगी। हम वियतनाम की राजधानी हनोई और वहां के सबसे बड़े शहर हो ची मिन्ह तथा भारत की राजधानी नई दिल्ली के बीच सीधी हवाई सेवाओं का संचालन करने वाले पहले वाहक रहे हैं।”

 "वियतजेट का फ्लाइट नेटवर्क वियतनाम और भारत के बीच छह सीधे हवाई मार्गों को कवर करता है, जो 1972 के बाद से दोनों देशों के बीच 50 वर्षों के राजनयिक संबंधों में एक मील का पत्थर भी है। हम आने वाले समय में दोनों देशों के बीच हवाई संपर्क का लगातार विस्तार करेंगे और अपने यात्रियों को सर्वश्रेष्ठ हवाई यात्रा अनुभव प्रदान करने के लिए आधुनिकतम तकनीकें अपनाने के साथ-साथ सेवा की गुणवत्ता भी सुधारने के लिए निरंतर प्रयासरत रहेंगे।”