रवि शास्त्री ने शेयर किया किस्सा- कैसे पाक के कप्तान जावेद मियांदाद ने कार को लेकर की थी उनकी स्लेजिंग

नई दिल्ली। भारत के पूर्व क्रिकेटर और हेड कोच रवि शास्त्री ने हाल ही में सोशल मीडिया पर अपनी Audi100 कार की तस्वीर शेयर की थी जो उन्होंने 1985 में बतौर "प्लेयर आफ द टूर्नामेंट" जीती थी। अब इस कार को लेकर उन्होंने एक घटना का जिक्र किया है कि कैसे पाकिस्तान के कप्तान जावेद मियांदाद ने उनकी स्लेजिंग की थी।

1985 में सुनील गावस्कर के नेतृत्व में भारत ने बेन्सन एंड हेजेज वर्ल्ड चैंपियनशिप का खिताब जीता था जिसमें रवि शास्त्री की अहम भूमिका रही थी। पूरे टूर्नामेंट में शास्त्री ने 182 रनों के साथ-साथ 8 विकेट भी चटकाए थे। पाकिस्तान के खिलाफ फाइनल मैच में उन्होंन 1 विकेट लेकर 63 रन की पारी खेलते हुए भारत को पाकिस्तान के खिलाफ 8 विकेट से शानदार जीत दिलाई थी। "प्लेयर आफ द टूर्नामेंट" के रूप में उन्हें Audi100 कार मिली थी।

मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड पर खेले गए इस फाइनल मैच में जीत के बाद पूरी भारतीय टीम ने इस कार की सवारी का लुत्फ उठाया था। अब रवि शास्त्री ने उस मैच से जुड़ी एक कहानी शेयर की है। उन्होंने कहा कि फाइनल के दौरान पाकिस्तान के कप्तान जावेद मियांदाद ने उन्हें स्लेज किया था।

मियांदाद ने कहा था कि "तू बार-बार उधर क्या देख रहा है, गाड़ी को क्यों देख रहा है वो नहीं मिलने वाली तेरे को" उसके बाद शास्त्री ने उनकी तरफ मुड़कर देखा और जवाब दिया। उन्होंने कहा कि "जावेद, मेरी तरफ ही आ रही है" रवि शास्त्री के इस किस्से ने साबित कर दिया कि भारत और पाकिस्तान के बीच स्लेजिंग कोई आज की बात नहीं है। जब-जब ये दोनों टीमें आपस में टकराती हैं ये चीजें आम हो जाती है।

रवि शास्त्री की गिनती ऐसे क्रिकेटरों में होती है जो संन्यास के बाद भी क्रिकेट को छोड़ नहीं पाए और किसी ने किसी रूप में वो इससे जुड़े रहे। पहले कामेंटेटर के तौर पर और फिर टीम इंडिया के हेड कोच के रूप में उन्होंने चार साल बिताए।

उनकी कोचिंग में भारत ने 43 टेस्ट खेले, जिसमें से टीम ने 25 में जीत हासिल की। ​​इसमें ऑस्ट्रेलिया में दो ऐतिहासित सीरीज जीत भी शामिल है। इसके अलावा उनके नेतृत्व में टीम इंडिया ने 76 वनडे और 65 टी20 मैच खेले और 51 वनडे और 43 टी20 मैच जीतने में सफलता हासिल की।