शरीर की एक्स्ट्रा चर्बी को कम कर देंगे ये आयुर्वेदिक उपाय

आज की दौड भरी जिंदगी में और कम समय के चलते लोग इतने व्यस्त हो चुके हैं कि वह अपनी सेहत का भी ख्याल नहीं रखते। जिससे उनके शरीर में कई समस्याए होने लगती हैं। उनमें से वजन बढ़ना आजकल की सबसे बड़ी समस्या बन गया है। बढ़ता मोटापा से न केवल आपकी सुंदरता कम होती है बल्कि कई डायबिटीज और हाइपरटेंशन जैसी गंभीर बीमारियों का कारण भी बनता है। आयुर्वेद में ऐसे कई उपाय हैं, जो वजन कम करने के मामले में सामान रूप से काम करते हैं। अपने वजन, शरीर के आकार, बीमारी, समय और जगह के हिसाब से सही उपाय चुनना बहुत जरूरी है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों का कहना है कि वजन कम करने के लिए एक डेली रूटीन फॉलो करना बहुत जरूरी है। इससे इम्यूनसिस्टम भी मजबूत रहता है।

सर्केडियन रिदम फास्टिंग

अपने खाने को हेल्थी और कम कैलोरी वाला बनाने के बजाय आप सर्कैडियन रिदम फास्टिंग का प्रयोग करें। इसका मतलब होता है कि आप दिन के उजाले के दौरान, सूर्योदय में खा सकते हैं। सूर्योदय से सूर्यास्त तक भोजन करने का अर्थ है कि आप 12 घंटे के बीच भोजन करते हैं और अन्य 12 घंटे में उपवास करते हैं। यह प्रयोग आपके शरीर को आपके द्वारा खाए जाने वाली हर चीज को पचाने में मदद करता है। 

पर्याप्त मात्रा में पीऐं पीने

पर्याप्त पानी पीना आपके शरीर को डिटॉक्सीफाई करने का सबसे अच्छा तरीका है। यह पाचन को बेहतर करता है। कम पानी के सेवन से कब्ज, निर्जलीकरण हो सकता है जो हार्मोन को असंतुलित कर सकता है और वजन बढ़ा सकता है। 

रोज व्यायाम करें 

व्यायाम से पूरे शरीर में खून के संचार को ठीक रखता है जिससे शरीर की सभी कोशिकाओं को पर्याप्त पोषण  मिलता है। जिससे हमारा शरीर चुस्त रहता है। खाया पीया समय से डाईजैस्ट हो जाता है और शरीर में फैट जमा नहीं होती।

अच्छी नींद ले

नींद शरीर से अतिरिक्त चर्बी को कम करने का सबसे अच्छा तरीका है। रात को सही समय पर सोने की कोशिश करें। इससे लीवर डिटॉक्स होने में मदद मिलती है क्योंकि रात 10 बजे से 2 बजे तक पित्त प्रमुख समय होता है जिससे जल्दी वजन कम होता है। 

फ्राइड फूड से करें तौबा

जो लोग अतिरिक्त फैट को कम करना चाहते हैं। वह फ्राइड फूड बिल्कुल न खाए। इनके परहेज करने से आपके लीवर पर कम दबाव पड़ेगा जिससे बेहतर पाचन और डिटॉक्स में मदद मिलेगी और आपकी आंत की सूजन  भी कम होने लगेगी।