अतर्रा में घोषित हुआ नो वेडिंग जोन, विधिक कार्यवाही की चेतावनी

बांदा/अतर्रा। कस्बा को जाम के झाम से निजात दिलाने के लिए पालिका ने नो वेडिंग जोन घोषित किया है।एक माह पहले थोक सब्जी व्यापारियों को मंडी परिसर में स्थांतरित करने के बाद नेशनल हाइवे व उससे जुड़े राज्यमार्ग की पटरी पर कब्जा कर ठेलिया,खोमचा लगाने वालों को भी नो-वेडिंग जोन पर व्यापार करने में रोक लगाई गई है।प्रशासन, पुलिस व पालिका के सयुंक्त तत्वावधान में रेहड़ी पटरी विक्रेताओं के साथ बैठक कर नो वेडिंग जोन से हटने के लिए पांच दिन का समय निर्धारित किया गया है।इसके बावजूद नियम का पालन न करने पर खुदरा दुकानदारों को जुर्माना सहित विधिक कार्रवाही की चेतावनी दी गई है।

  कस्बा के नेशनल हाईवे स्थित गांधी चौक से पचास मीटर दोनों तरफ बबेरू तिराहा, कन्या विद्यालय तक व राज्यमार्ग में नरैनी रोड पर सुनारी गली के पास एवं स्टेशन रोड मोड़ तक प्रशासन ने चिंहित कर नो-वेडिंग जोन घोषित किया है।शनिवार को थाना परिसर में तहसीलदार विजयप्रताप सिंह, सीओ गवेंद्रपाल सिंह व इओ राम सिंह ने सयुंक्त रूप से पटरी में रेहड़ी पटरी ठेलिया व खुदरा सब्जी विक्रेताओं के साथ बैठक हुई।

बैठक के दौरान नो- वेंडिंग जोन घोषित क्षेत्र में खुदरा दुकानदारों को पटरी पर दुकानें न लगाने की जानकारी दी गई।पटरी रेहड़ी दुकानदारों को पांच दिन की मोहलत देते हुए प्रशासन ने फ्री वेडिंग जोन में अपनी खुदरा दुकानें लगाने की बात कही गई।इतना ही नही नो-वेडिंग जोन में रेहड़ी पटरी दुकानदारों के अलावा चार पहिया वाहन भी खड़े करने में रोक रहेगी।