सम्बन्धित विभाग बाढ़ पूर्व तैयारी समय से पूर्ण करायें: जिलाधिकारी

बहराइच । जनपद में सम्भावित बाढ़ की स्थिति से निटपने के लिए सम्बन्धित विभागों द्वारा की जाने वाली तैयारियों के सम्बन्ध में सोमवार को देर शाम कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित बाढ़ स्टेरिंग गु्रप की बैठक के दौरान जिलाधिकारी डॉ0 दिनेश चन्द्र द्वारा बाढ़ से सम्बन्धित सभी विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिये गये कि बाढ़ से सम्बन्धित अपने-अपने विभाग की कार्ययोजना जल्द से जल्द तैयार कर स्थलीय सत्यापन भी कर लें। जिलाधिकारी द्वारा नाव, गोताखोरा, कम्यूनिकेशन प्लान, बाढ़ चौकी व शरणालयों का सत्यापन इत्यादि का सत्यापन करने का तहसीलों को निर्देश दिये गये। बाढ़ के दौरान स्वच्छ पेयजल व शौचालय की व्यवस्था के लिए जिला पंचायत राज्य अधिकारी, तटबंधो की सुरक्षा व सुरक्षा सामग्री की उपलब्धता के लिए अधिशाषी अभियन्ता ड्रेनेज खण्ड को तथा पशु टीकाकरण, चारे की व्यवस्था के सम्बन्ध में मुख्य पशु चिकित्साधिकारी को निर्देश दिये गये। इसी प्रकार बीमारियों की रोकथाम, उपचार की व्यवस्था, औषधियों, विसंक्रमकों, जीवन रक्षक औषधियों, ओ०आर०एस०, एन्टी स्नेक वेनम, ब्लीचिंग पाउडर इत्यादि की उपलब्धता के सम्बन्ध में मुख्य चिकित्साधिकारी को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये गये।

जिलाधिकारी द्वारा बाढ़ ग्रस्त ग्रामों में जन जागरण अभियान संचालित करने, बाढ़ प्रभावित प्रत्येक ग्राम का कम्यूनिकेशन प्लान तैयार करने, बाढ़ चौकियों, बाढ़ शरणालयों एवं लंगर स्थलों का सत्यापन, नावों, मल्लाहों, गोताखोरों की उपलब्धता, एन०डी०आर०एफ०, बाढ़ पी०ए०सी० के ठहरने, बाढ़ के दौरान स्वच्छ पेयजल आपूर्ति, बीमारियों की रोकथाम, उपचार की व्यवस्था, औषधियों, विसंक्रमकों, जीवन रक्षक औषधियों, ओ०आर०एस०, एन्टी स्नेक वेनम, ब्लीचिंग पाउडर इत्यादि की उपलब्धता, पशु टीकाकरण एवं स्वास्थ्य कैम्पों का आयोजन, पशुओं के चारे, राहत सामग्री बाढ़ के दौरान महिलाओं, बच्चों के लिए शौचालयों की व्यवस्था, तटबन्ध के संवेदनशील स्थानों, तटबन्धों पर रैट होल क्षतिग्रस्त सड़कों की मरम्मत, तटबन्ध की सुरक्षा हेतु पूर्व से बोल्डरों तथा तार के क्रेटों का प्रबन्ध, बाढ़ के समय मिट्टी खोदने के भडारण स्थलों का चिन्हांकन, बाढ़ के समय बाढ़ग्रस्त क्षेत्रों में स्कूलों का संचालन, बाढ़ के समय विद्युत व्यवस्था का संचालन, बाढ़ के समय फसलों में लगने वाले कीटों से बचाव हेतु औषधियों की उपलब्धता, बाढ़ से बचाव एवं राहत कार्य हेतु बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में हैलीपैड के लिए स्थानों का चिन्हांकन इत्यादि की समीक्षा करते हुए सभी सम्बन्धित विभागों को बाढ़ प्रबन्धन योजना तैयार कर उससे सम्बन्धित कार्यवाही समय से पूर्ण कराने के निर्देश दिये गये।

इस अवसर पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक केशव कुमार चौधरी, मुख्य विकास अधिकारी कविता मीना, अपर जिलाधिकारी मनोज, अपर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण अशोक कुमार, मुख्य चिकित्साधिकारी डा. एस.के. सिंह, जिला विकास अधिकारी राजेश कुमार मिश्र, उप जिलाधिकारी सदर सौरभ गंगवार आईएएस, मोतीपुर के ज्ञान प्रकाश त्रिपाठी, तहसीलदार नानपारा अमरकान्त वर्मा, कैसरगंज के शिव प्रसाद, उप निदेशक कृषि टी.पी. शाही, जिला पंचायत राज्य अधिकारी उमाकान्त पाण्डेय, जिला पूर्ति अधिकारी अन्नत प्रताप सिंह, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी अजय कुमार सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारी मौजूद रहे।