धूप में रखा पानी पीने के हैं कई फायदे

सूरज की रोशनी या धूप ऊर्जा का एक रूप है। यह हमारे लिए एनर्जी का मेन सोर्स है। सूर्य को भारतीय संस्कृति में खास स्थान दिया जाता है। आयुर्वेद में इससे चार्ज किए पानी को पीना सेहत के लिए बेहद फायदेमंद माना जाता है। इसे सूर्य जल चिकित्सा कहते हैं। माना जाता है इस पानी मे कई गुण होते हैं और यह हेल्थ और स्किन के लिए काफी फायदेमंद होता है। आयुर्वेद में मान जाता है कि जब सूरज की रोशनी पानी पर पड़ती है तो इसका मॉल्यूक्यूल स्ट्रक्चर बूस्ट करती है और इसे डेड से लाइव वॉटर में बदल देती है। 

हील करता है ये पानी

आयुर्वेद एक्सपर्ट मानते हैं कि सन चार्ज्ड वॉटर शरीर को अंदर से हील करता है। हेल्थशॉट्स की रिपोर्ट के मुताबिक, डॉक्टर इप्शिता चटर्जी बताती हैं, यह आपकी एनर्जी बढ़ाता है और शरीर का इन्फ्लेमेशन कम करता है। अल्ट्रावॉयलेट किरणों की वजह से इसके माइक्रोब्स (बैक्टीरिया, वायरस) खत्म हो जाते हैं। यहां जानें सन चार्ज्ड वॉटर के और फायदे...

पेट के लिए है फायदेमंद

सूरज में चार्ज किया पानी डाइजेस्टिव फायर बूस्ट करता है, भूख बढ़ाता है और डाइजेशन से जुड़ी समस्याओं को दूर करता है। अगर आपके पेट में कीड़े हैं, एसिडिटी या अल्सर है तो इसमें भी फायदा मिलता है।

स्किन में लाता है ग्लो

धूप में रखा पानी त्वचा से जुड़ी समस्याएं, ऐलर्जी और रैशेज भी कम करता है और ग्लो भी लाता है। 

कैसे बनाएं पानी

सन चार्ज्ड वॉटर बनाने के लिए कांच की बोतल में पानी भरकर इसको धूप में कम से कम  8 घंटे रखना होता है। वैसे इसे तीन दिन तक 8 घंटे रखकर चार्ज करें। इस पानी को फ्रिज में नहीं रखते हैं। इसे पूरे दिन में आधे कप पीना होता है। अलग-अलग रंग की बोतल का असर अलग होगा। इसे क्रोमाथेरपी कहते हैं। अगर आपको नहीं पता किस रंग की बॉटल में रखना है तो नॉर्मल ट्रांसपेरेंट बोतल में रख सकते हैं।