पूर्ण क्षमता के साथ संचालित किये जाएं कौशल विकास प्रशिक्षण केन्द्र: जिलाधिकारी


बहराइच : सोमवार को देर शाम कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित जिला कौशल समिति एवं प्रशिक्षण प्रदाताओं की संयुक्त बैठक की अध्यक्षता करते हुए जिलाधिकारी डॉ. दिनेश चन्द्र ने निर्देश दिया कि जिले के समस्त प्रशिक्षण केन्द्र सभी तैयारियॉ पूर्ण कर माह जून के प्रथम सप्ताह में प्रशिक्षण केन्द्रों का संचालन सुनिश्चित करें। बैठक के दौरान डीएम डॉ. चन्द्र ने प्रशिक्षण प्रदाता संस्थाओं व प्रशिक्षण केन्द्रवार समीक्षा करते हुए निर्देश दिया कि आवश्यकतानुसार मैन पावर व अन्य संसाधनों के साथ सभी प्रशिक्षण केन्द्रों को पूरी क्षमता के साथ संचालित किया जाय। उन्होंने कहा कि प्रशिक्षण सत्र शुरू करने में यदि किसी प्रकार की कोई समस्या हो तो उसे जिला प्रशासन के संज्ञान में लाया जाय ताकि समस्या का समाधान कराया जा सके।

डीएम डॉ. चन्द्र ने कहा कि आकांक्षात्मक जनपद बहराइच के युवाओं में स्किल डेवलपमेन्ट में प्रशिक्षण संस्थाओं की अत्यन्त महत्वपूर्ण भूमिका है। इसलिए कौशल विकास से सम्बन्धित सभी स्टेक होल्डर्स बेहतर समन्वय के साथ पूर्व की भांति कड़ी मेहनत व परिश्रम से कौशल विकास की गति को प्रदान करने में अपना सहयोग प्रदान करें। डीएम ने कहा कि कौशल विकास में नवाचार व अभिनव प्रयोग हेतु भारत सरकार द्वारा श्रेष्ठता पुरस्कार के चयनित किया जाना जनपद के लिए गौरव की बात है। श्रेष्ठता पुरस्कार के लिए चयनित होने पर डीएम ने सभी सम्बन्धित को बधाई देते हुए कहा कि श्रेष्ठता बनाये रखने के लिए हमें अब दोगुनी मेहनत के साथ कार्य करना होगा। डीएम डॉ. चन्द्र ने प्राधानाचार्य आईटीआई को निर्देश दिया कि विभिन्न शासकीय विभागों यथा विद्युत, सिंचाई इत्यादि विभागों से समन्वय कर अधिक से अधिक बच्चों को अप्रेन्टिस के लिए समायोजित कराये।

इस अवसर पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक केशव कुमार चौधरी, मुख्य विकास अधिकारी कविता मीना, अपर जिलाधिकारी मनोज, अपर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण अशोक कुमार, मुख्य चिकित्साधिकारी डा. एस.के. सिंह, जिला विकास अधिकारी राजेश कुमार मिश्र, उप जिलाधिकारी सदर सौरभ गंगवार आईएएस, मोतीपुर के ज्ञान प्रकाश त्रिपाठी, तहसीलदार नानपारा अमरकान्त वर्मा, कैसरगंज के शिव प्रसाद, उप निदेशक कृषि टी.पी. शाही, जिला पंचायत राज्य अधिकारी उमाकान्त पाण्डेय, जिला पूर्ति अधिकारी अन्नत प्रताप सिंह, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी अजय कुमार, प्रधानाचार्य आईटीआई प्रदीप अग्निहोत्री, जिला सेवायोजन अधिकारी संजय कुमार सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारी मौजूद रहे।