कोतवाली तथा एसओजी टीम को बारह लाख के कीमती गांजे बरामदगी की मिली सफलता

दो आरोपियों के खिलाफ एनडीपीएस का केस, एक गया जेल

लालगंज, प्रतापगढ़। कोतवाली तथा एसओजी टीम को मंगलवार की रात बारह लाख के कीमती गांजे की बरामदगी की बड़ी सफलता हाथ लगी। एसओजी और कोतवाली टीम के हत्थे चढ़े एक आरोपी के पास से पुलिस ने बारह किलो तथा उसकी निशानदेही से दूसरे आरोपी के द्वारा छिपाये गये मकान से छाछठ किलो गांजा बरामद हुआ। पुलिस को सतहत्तर किलो चार सौ चालीस ग्राम बारह लाख कीमती गांजा हाथ लग सका है। वहीं पुलिस ने एक आरोपी को भी हिरासत मे लेने मे सफलता ली है।

 लालगंज कोतवाल कमलेश पाल तथा एसओजी टीम के प्रभारी सुनील कुमार को कोतवली के सगरा सुंदरपुर बैरियर के पास चेकिंग के दौरान मुखबिरी सूचना मिली कि हण्डौर तिराहे के पास अवैध गांजे के साथ एक आरोपी शिकंजे मे आ सकता है। यह सूचना कोतवाल कमलेश पाल ने सीओ को दी। सूचना मिलते ही सीओ रामसूरत सोनकर भी मौके पर पहुंच गये। पुलिस टीम ने हण्डौर तिराहे पर पहुंचकर एक बोरी लिये संदिग्ध को धर दबोचा। आरोपी के पास से पुलिस को बारह किलो गांजा बरामद हुआ। 

आरोपी कोतवाली नगर के भुवालपुर किला कटरा मेंदनीगंज निवासी गहरू यादव के पुत्र जयसिंह से पुलिस ने कडाई से पूछताछ की तो उसने बताया कि उसे यह गांजा कोतवाली नगर के भुवालपुर किला कटरा मेंदनीगंज निवासी मुकुन्द सिंह पुत्र सूर्यभान सिंह उर्फ मॉस्टर ने लालगंज पहुंचाने के लिए दिया है। इसके बाद टीम ने जयसिंह को साथ लेकर मुकुन्द सिंह के द्वारा एक घर में छिपाये गये गांजे को भी बरामद कर लिया।

 यहां पुलिस को छाछठ किलो गांजा मिल गया। पुलिस टीम को कुल सतहत्तर किलो चार सौ चालीस ग्राम अवैध गांजे की बरामदगी मे सफलता मिली है। पुलिस ने आरोपियो के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट का मुकदमा कायम किया है। पुलिस ने पकड़े गये आरोपी जयसिंह को बुधवार को जेल भेज दिया। इस बाबत सीओ लालगंज रामसूरत सोनकर ने कोतवाली मे पत्रकारों को बताया कि लालगंज पुलिस और एसओजी की इस कामयाबी से एसपी के अपराध नियंत्रण अभियान को गति मिली है। वहीं जिले के एसपी सतपाल अंतिल तथा एएसपी पश्चिमी रोहित मिश्र ने भी पुलिस व एसओजी टीम को सफलता पर शाबसी देते हुए ईनाम दिये जाने की भी बात कही है।