स्विट्जरलैंड में भारतीयों का धन 3.83 बिलियन फ्रैंक, मायावती बोली

ये बीते 14 वर्षों में रिकॉर्ड है, गरीबी, महंगाई, बेरोजगारी के संकट के बीच कैसे खुश हो देश

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री बसपा की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने स्विट्जरलैंड में जमा भारतीयों के पैसे पर सवाल उठाए हैं। मायावती ने कहा कि भारतीय पूंजीपति युवा धन्ना सेठों का 3.83 बिलियन फ्रैंक स्विट्जरलैंड के बैंक में जमा है। ये बीते 14 वर्षों में रिकॉर्ड है। जो भारतीयों के द्वारा इतना रुपया जमा किया गया है। बसपा प्रमुख ने कहा इस गरीबी, महंगाई, बेरोजगारी के अभूतपूर्व संकट में देश कैसे खुश हो।

 स्विट्जरलैंड के बैंकों में भारतीय कंपनियों और लोगों का धन 2021 के दौरान 50 प्रतिशत बढ़कर 14 साल के उच्चतम स्तर 3.83 अरब स्विस फ्रैंक (30,500 करोड़ रुपये से अधिक) पर पहुंच गया है। इसमें भारत में स्विट्जरलैंड के बैंकों की शाखाओं और अन्य वित्तीय संस्थानों में जमा धन भी शामिल है। स्विट्जरलैंड के केंद्रीय बैंक (एसएनबी) की तरफ से गुरुवार को जारी वार्षिक आंकड़ों के अनुसार, प्रतिभूतियों समेत इससे जुड़े साधनों के जरिये हिस्सेदारी तथा ग्राहकों का जमा बढ़ने से स्विस बैंकों में भारतीयों का पैसा बढ़ा है।

 पहले 2020 के अंत तक स्विट्जरलैंड के बैंकों में भारतीयों का धन 2.55 अरब स्विस फ्रैंक (20,700 करोड़ रुपये) था। आंकड़ों के अनुसार, स्विट्जरलैंड के बैंकों पर 2021 के अंत तक भारतीय ग्राहकों की कुल देनदारी 383.19 करोड़ स्विस फ्रैंक थी। इसमें से 60.20 करोड़ फ्रैंक ग्राहकों की जमा राशि के रूप में हैं। 122.5 करोड़ स्विस फ्रैंक अन्य बैंकों के जरिये रखे गए हैं और 30 लाख फ्रैंक ट्रस्ट आदि के जरिये हैं।