Delhi School: 8वीं कक्षा तक के पाठ्यक्रम में स्वास्थ्य और योग विज्ञान को अनिवार्य करने की मांग की गई

दिल्ली उच्च न्यायालय में याचिका दाखिल कर देश के समग्र विकास के लिए आठवीं कक्षा तक के पाठ्यक्रम में स्वास्थ्य और योग विज्ञान को अनिवार्य बनाने का निर्देश देने की मांग की गई है। न्यायालय ने बुधवार को मामले में केन्द्र सरकार, दिल्ली सरकार, एनसीपीसीआर और एनसीईआरटी से जवाब दाखिल करने को कहा है। न्यायमूर्ति विपिन सांघी एवं न्यायमूर्ति सचिन दत्ता की खंडपीठ ने जवाब मांगते हुए कहा कि पीठ खुद इस नीति को लागू करने के निर्देश नहीं दे सकती। पीठ ने केन्द्र सरकार से यह भी कहा कि यदि आपको लगता है कि यह महत्वपूर्ण है तो इसे स्वयं करें। हमारे आदेशों का इंतजार क्यों करें। पीठ ने मामले को 15 नवंबर तक के लिए स्थगित कर दिया। पेशे से अधिवक्ता अश्विनी कुमार उपाध्याय ने मामले में याचिका दाखिल की है।