BSSC Recruitment 2022 : सीजीएल के 2187 पदों पर भर्ती, देखे कब तक कर सकते है आवेदन

BSSC Recruitment 2022 : बिहार कर्मचारी चयन आयोग से सीजीएल परीक्षा के जरिए राज्य के सरकार विभागों में 2187 पदों पर भर्ती के लिए विज्ञापन जारी किया था जिसके लिए आवेदन के लिए अभी एक सप्ताह का समय रह गया है। बीपीएससी सीजीएल परीक्षा 2022 में भाग लेने के इच्छुक अभ्यर्थी 15 मई 2022 तक आवेदन कर सकते हैं। बिहार कर्मचारी चयन आयोग की इस भर्ती के लिए ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया 14 अप्रैल 2022 से शुरू हुई थी। बीपीएससी की इस भर्ती के जरिए कुल 2187 पदों को भरा जाएगा जिनमें सबसे ज्यादा सचिवालय सहायक के 1360 पद हैं। बीपीएससी सीजीएल परीक्षा के लिए योग्य अभ्यर्थी आधिकारिक वेबसाइट bssc.bihar.gov.in पर जाकर आवेदन कर सकते हैं।

आरक्षित कैटगरी के अनुसार पद:

2187 में से 880 पद अनारक्षित हैं। 207 पद EWS, 292 बीसी, 448 ईबीसी, 71 बीसी महिला, 342 एससी व 7 एसटी वर्ग के लिए आरक्षित हैं।

आयु सीमा: उम्मीदवार की आयु 21 से 37 वर्ष तक होनी चाहिए। अनारक्षित वर्ग की महिलाओं को अधिकतम आयु सीमा में तीन साल की छूट मिलेगी। पिछड़ा वर्ग / अत्यंत पिछड़ा वर्ग को तीन साल व एससी व एसटी वर्ग के अभ्यर्थियों को पांच साल की छूट मिलेगी। आयु की गणना 1 अगस्त 2022 से होगी।

पदों का विवरण व योग्यता:

सचिवालय सहायक- 1360 (योग्यता - ग्रेजुएशन)

योजना सहायक - 125 (योग्यता - ग्रेजुएशन)

मलेरिया निरीक्षक - 74 व 19 (योग्यता - साइंस स्ट्रीम में ग्रेजुएशन)

डाटा एंट्री ऑपरेटर ग्रेड सी - 2 व 1 (ग्रेजुएशन व PGDCA/BCA/BSc IT)

कार्यालय निबंधक में अंकेक्षक - 256 व 34 (गणित के साथ स्नातक या कॉमर्स में ग्रेजुएट)

अंकेक्षण निदेशालय में अंकेक्षक - 370 व 117 (कॉमर्स, गणित, इकोनॉमिक्स या स्टैट्स में से किसी एक विषय के साथ ग्रेजुएशन)

आवेदन शुल्क :

सामान्य वर्ग / पिछड़ा वर्ग / अत्यंत पिछड़ा वर्ग के पुरुष अभ्यर्थियों के लिए 540 रूपये, अन्य आरक्षित वर्ग के लिए 135 रुपए। अभ्यर्थियों को सलाह है कि आवेदन करने से पूर्व विस्तृत भर्ती नोटिफिकेशन जरूर देखें।

बीएसएससी ने कहा है कि अभ्यर्थी ऑनलाइन आवेदन से पहले अपने सभी डॉक्यूमेंट्स जैसे शैक्षणिक योग्यता (सर्टिफिकेट व मार्कशीट) व जाति प्रमाण पत्र आदि जुटा लें, इसके बाद ही ऑनलाइन फॉर्म भरें। ऑनलाइन फॉर्म सब्मिट करने के बाद उसमें कोई बदलाव नहीं हो सकेगा। आयोग की ओर से जारी निर्देशों के अनुसार 40 हजार से अधिक आवेदन प्राप्त होने पर परीक्षा ली जाएगी। परीक्षा में वस्तुनिष्ठ प्रश्न पूछे जाएंगे। प्रारंभिक परीक्षा में पांच गुना छात्रों का रिजल्ट दिया जाएगा।