आर्थिक तंगी से जूझ रहे परिवार ने एक साथ खाया जहर, पति-पत्नी की मौत, बेटी की हालत नाजुक

कुशीनगर : जिले के पटहेरवा थाना क्षेत्र के गांव अमवा में उस समय हड़कंप मच गया जब आर्थिक तंगी से जूझ रहे परिवार ने एक साथ जहर पी लिया। स्थिति बिगड़ने पर पड़ोसियों ने स्थानीय अस्पताल पहुंचा।  जहां पर डॉक्टरों ने पति पत्नी को मृत घोषित कर दिया। बेटी की हालत को गंभीर देखते हुए डॉक्टरों ने जिला अस्पताल रेफर कर दिया है। जहां पर उसकी हालत भी गंभीर बनी हुई है। बता दें कि मामला कुशीनगर जिले के पटहेरवा थाना क्षेत्र के गांव अमवा गांव की है।  50 वर्षीय रामप्रवेश गुप्ता की तीन संताने हैं। 

बड़ा बेटा अजीत कुमार गुप्त पहले मुंबई मुंबई रहकर रोजगार करता था। दूसरा पुत्र गोलू विदेश रहता है। तीसरा पुत्र अमन पुणे रहता है। छह वर्ष पूर्व अजीत को इंसेफेलाइटिस हुआ था। काफी उपचार के बाद वह ठीक तो हुआ, लेकिन मानसिक रूप से अस्वस्थ रहता था। कोरोना काल में में रोजगार छिन जाने के कारण एक वर्ष से वह पत्नी 32 वर्षीय सिंधू, 10 वर्षीय पुत्री नंदिनी व आठ वर्षीय पुत्र अंशू के साथ घर रह रहा था। रोजगार नहीं मिलने के कारण परिवार आर्थिक तंगी का शिकार था। जिसकी वजह से उसने पत्नी और बच्चों के साथ जहर पी लिया।  सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को अभिरक्षा में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। मामले की जांच पड़ताल कर रही है।