ये लक्षण दिखने पर होती है किडनी को डिटॉक्स की जरुरत, ऐसे करें सफाई

किडनी में यदि कोई समस्या आ जाए तो वह सही तरीके से काम नहीं करती। इससे स्वास्थ्य को गंभीर रुप से नुकसान हो सकता है। किडनी को स्वस्थ रखने के लिए अच्छी डाइट का सेवन जरुर करें। साथ ही डिटॉक्स करने के लिए आप ज्यादा से ज्यादा मात्रा में पानी का सेवन भी करें। किडनी लाल ब्लड कोशिकाओं को बनाने में और ब्लड प्रेशर को रेगुलेट करने में मदद करती है। इसकी सफाई भी बहुत ही जरुरी है। तो चलिए बताते हैं आपको कि किन तरीकों के साथ आप किडनी की सफाई कर सकते हैं...

क्या होता है किडनी फ्लश करना  

शोध के अनुसार, किडनी फ्लश करने का अर्थ है-किडनी की सफाई करना। उसे अच्छे से  क्लिंज करना। आप कई तरह के फूड्स का सेवन करके भी किडनी का साफ कर सकते हैं। फूड्स आपकी किडनी में मौजूद विषाक्त और किसी भी प्रकार का वेस्ट पदार्थ निकालने में मदद करते हैं। इससे आपको गुर्दे की बीमारियों के जोखिम को कम करने में मदद मिलती है। हेल्दी डाइट और तरल पदार्थों का सेवन आपकी किडनी को स्वस्थ रखने में सहायता कर सकते हैं। 

इसके लक्षण क्या है 

. यदि आपको किडनी की समस्या है तो आपको थकान महसूस हो सकती है।

. खुजली होने के साथ-साथ त्वचा पर रुखापन भी आ सकता है। 

. पैरों में बहुत दर्द होना

. टेस्ट करवाने पर बार-बार किडनी में स्टोन आना

. आपके मुंह का स्वाद खराब होना 

. एड़ियां सूज जाना 

. पेशाब का रंग बदल जाना 

कैसे करें किडनी फ्लश 

ज्यादा से ज्यादा पानी पिएं 

बहुत से कम लोगों को इस बात के बारे में जानकारी होगी कि शरीर के हर अंग को अच्छे से काम करने के  लिए पानी की  जरुरत होती है। वैसे ही किडनी को भी किसी लिक्विड पदार्थ की जरुरत पड़ती है। किडनी का मुख्य काम होता है फिल्टर करना । यूरीन बनाने के लिए किडनी को पानी की आवश्यकता पड़ती है। इसके जरिए ही आपके शरीर से विषाक्त पदार्थ निकलता है। यूरीन कम मात्रा में आने से भी आपके गुर्दे में पत्थरी बन सकती है। इसलिए रोज 3 लीटर पानी का सेवन जरुर करें। 

बेरीज का करें सेवन 

बेरीज में एंटीऑक्सीडेंट्स, फाइटोकेमिकल्स जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं जो किडनी को सुरक्षित रखने में मदद करते हैं। इसका सेवन करने से आपको ऑक्सिडेटिव स्ट्रेस कम होता है। आप ब्लूबेरी और क्रेनबेरीज का सेवन कर सकते हैं। यह आपके यूरिनरी ट्रैक्ट को शांत रखने में सहायता करते हैं और किडनी को किसी भी प्रकार के संक्रमण से बचाते हैं। ब्लूबेरीज में पोटैशियम, सोडियम और फॉस्फोरस बहुत ही कम मात्रा में पाया जाता है। इसलिए आप इसका सेवन कर सकते हैं। 

ओमेगा-3 फैटी एसिड का करें सेवन 

ओमेगा-3 फैटी एसिड का सेवन कर सकते हैं। यह ओमेगा-6 के फैटी एसिड को कंट्रोल करने में सहायता करता है। यदि शरीर में ओमेगा-6 फैटी एसिड की मात्रा शरीर में ज्यादा हुई तो आपको किडनी में स्टोन होने की संभावना भी हो सकती है। 

तरबूज और अनार का करें सेवन

तरबूज में लाइकोपीन नाम का पोषक तत्व पाया जाता है जो किडनी डेमेज होने पर सूजन होने से बचाता है। इसके अलावा इसमें फाइबर, पानी और भी बहुत से तत्व होते हैं जिनसे किडनी को स्वस्थ रहने में मदद मिलती है। अनार में पोटैशियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है, जिसके द्वारा किडनी साफ हो सकती है। पोटैशियम गुर्दे की पत्थरी के जोखिम को भी कम करने में मदद करता है।