फिर सजी दुकानें मजाक बना कर रह गया ओरन का अतिक्रमण हटाओ अभियान

बांदा/ओरन। नगर ओरन में अतिक्रमण अभियान चलाया गया। अतिक्रमण हटाने के लिए नाले के ऊपर व नाले के बाहर अतिक्रमण न करने की बात कही गईं थीं। नगर ओरन में नाले के पीछे बने कई घरों को अतिक्रमण के नाम पर क्षतिग्रस्त कर दिया गया है। नगर पंचायत के अधिशासी अधिकारी, बाबू व चैयरमेन के इशारे में कई लोगों के घरों को चेहरा देखकर गिरा दिये गये। एक मकान तो नाले के पीछे होने के बावजूद भी क्षतिग्रस्त कर दिया गया।सिंहपुर रोड में कोई सीमांकन व नाप नहीं किया गया था। यह सूचना दी गई थी के नाले के अंदर ही रहे लेकिन नाले के अदंर बने होने के बावजूद भी कई लोगों के घरों को बगैर सीमांकन के क्षतिग्रस्त कर दिया गया। 

कस्बेवासियों का आरोप है कि साजिश के तहत एसडीएम व नगर पंचायत के बाबू व चेयरमैन ने अपने स्वार्थ सिद्ध किए है। भेदभाव पूर्ण ढंग से कार्य किया गया है। कस्बे में चला अतिक्रमण अभियान मजाक बन कर रह गया है। इस दौरान दोनो पक्ष से गाली-गलौज की भी बात कहीं जा रही है।