घर की छत पर पक्षियों के लिए करें पानी व दाने का प्रबन्ध, घर आया मेहमान पक्षी भूखा प्यासा न लौटे: डीएम

डीएम व सीडीओ ने वर्चुअल माध्यम से ग्राम प्रधानों से किया संवाद

सभी वाटर बाडियों में पानी भरने के दिये निर्देश

ग्रीष्म काल में मानव व पशु पक्षियों के पानी की न हो दिक्तत

बहराइच। जिलाधिकारी डॉ. दिनेश चन्द्र व मुख्य विकास अधिकारी कविता मीना ने जनपद के ग्राम प्रधानों के साथ वर्चुअल संवाद करते हुए ईद, अक्षय तृतीया और परशुराम जंयती ईद की बधाई देते हुए निर्देशित किया कि आसन्न त्यौहारों के अवसर पर ग्राम व धार्मिक स्थलों के आस-पास पर्याप्त साफ-सफाई के बन्दोबस्त सुनिश्चित करें। डीएम व सीडीओ ने यह भी निर्देश दिया ग्रीष्म ऋतु को मद्देनज़र रखते हुए गॉव ग्राम के तालाबों नहरों अथवा सरकारी ट्यूबवेल के माध्यम से भरवा दिया जाय। ग्रीष्म ऋतु के दौरान किसी भी मानव, पशु-पक्षियों को पानी की दिक्कत नहीं होनी चाहिए। वर्चुअल माध्यम से आयोजित संवाद के दौरान डीएम व सीडीओ ने जनपदवासियों से अपील की कि लू व गर्मी के मौसम को देखते हुए अपने घर के आस-पास व घर की छत पर पानी की व्यवस्था कर दें ताकि कोई भी पशु व पक्षी प्यासा न रहे। उन्होंने लोगों से यह भी अपील की कि अपनी खुली छत पर मिट्अी के बर्तन में पक्षियों के पानी के साथ दाना का भी प्रबन्ध अवश्य करे ताकि घर आया कोई भी मेहमान पक्षी भूखा-प्यासा न जा सके।

डीएम व सीडीओ ने ग्राम प्रधानों से यह भी अपील की कि वर्तमान में संचालित संचारी रोग नियंत्रण अभियान को सफल बनाने में ग्राम स्तरीय अधिकारियों व कर्मचारियों को पूर्ण सहयोग प्रदान करें तथा आवश्यकतानुसार ग्राम पंचायत फागिंग व एण्टीलार्वा छिड़काव कराते रहें। डीएम डॉ. चन्द्र ने ग्राम प्रधानों को बताया कि ठोस व तरह अपशिष्ट के प्रबन्धन हेतु गंगा हरितमा अभियान के अन्तर्गत ग्राम गंगा सेवा समिति का गठन समितियों को सक्रिय कर दिया जाय। डीएम ने यह भी निर्देश दिया ग्राम पंचायत में अवस्थित सामुदायिक शौचायत, ग्राम पंचायत भवन सहित अन्य सार्वजनिक सम्पत्तियों को क्रियाशील रखा जाय तथा परिसर में साफ-सफाई पर भी विशेष ध्यान दिया जाये।

वर्चुअल मीटिंग के दौरान डीएम डॉ. चन्द्र ने ग्राम प्रधानों को शासन द्वारा लागू मोबाइल गेहूॅ क्रय केन्द्रों की व्यवस्था से अवगत कराते हुए बताया कि सरकार द्वारा निर्णय लिया गया है कि अब किसानों को गेहूॅ क्रय केन्द्र तक चल कर नहीं आना पडेगा। बल्कि गेहॅू क्रय केन्द्र स्वयं चलकर किसानों तक पहुॅचेंगे। डीएम ने जानकारी दी कि यदि ग्राम में कुछ किसानों द्वारा अपनी उपज का 150 कुण्टल गेहूॅ संग्रहीत कर लिया जाता है तो ग्राम प्रधान, पंचायत सचिव अथवा कोटेदार द्वारा सूचित करने पर मोबाइल क्रय केन्द्र गॉव में पहुॅच कर किसानों का गेहूॅ क्रय कर लेगा।

Popular posts
जयप्रकाश का बिगुल बजा तो जाग उठी तरुणाई है।
Image
कृषक इंटर कॉलेज में स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर छात्र छात्राओं ने देशभक्ति गीतों के साथ किया अपनी कला का प्रदर्शन।
Image
दि किसान सहकारी चीनीमिल में चल रहे मशीनों की मरम्मत कार्य का निरीक्षण करने पहुंचे अपर सचिव चीनी उद्योग एवं गन्ना विकास व आबकारी विभाग संजय आर भूसरेड्डी ।
Image
युवक ने जहर खाकर की खुदकुशी
Image
पूर्व एमएलसी की माँ का निधन, जताई गई संवेदना
Image