राष्ट्रीय लोक अदालत की भव्य सफलता के लिए समस्त न्यायिक अधिकारियों के साथ बैठक सम्पन्न

 बहराइच। मा. प्रभारी जनपद न्यायाधीश/अध्यक्ष, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, बहराइच राकेश कुमार षष्टम् की अध्यक्षता में तथा मा. तृतीय अपर जनपद एवं सत्र न्यायाधीश, नोडल अधिकारी लोक अदालत बहराइच एवं सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, बहराइच की उपस्थिति में आगामी राष्ट्रीय लोक अदालत 14 मई 2022 की भव्य सफलता सुनिश्चित किये जाने हेतु समस्त न्यायिक अधिकारियों के साथ मीटिंग हाल सिविल कोर्ट बहराइच में बैठक की गयी।

 बैठक में मा. प्रभारी जनपद न्यायाधीश अध्यक्ष, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, बहराइच द्वारा समस्त को निर्देशित किया गया कि अधिकाधिक वादों को चिन्हित कर सुलह समझौते के आधार पर उनका निस्तारण आगामी राष्ट्रीय लोक अदालत में किया जाये। कोविड-19 को दृष्टिगत रखते हुए 14 मई 2022 को भीड़ इक्ट्ठी होने से रोकने के लिये समस्त को निर्देशित किया गया कि सुलह-वार्ता बैठक पहले ही यथासम्भव कर लें। 

इसके अतिरिक्त समस्त को निर्देशित किया गया कि लोक अदालत हेतु अधिकाधिक संख्या में नोटिसें अविलम्ब जारी करें तथा नाजिर को निर्देशित किया गया कि लोक अदालत हेतु जारी नोटिसों का सर्वाेच्च प्राथमिकता पर तामीला सुनिश्चित करायें समस्त उपस्थित अधिकारियों को यह भी निर्देशित किया गया कि उत्तराधिकार से संबंधित पत्रावलियों में अविलम्ब नोटिसे जारी कर दें. जिससे कि लोक अदालत की तिथि से पहले हितबद्ध पक्ष की आपत्ति अथवा अनापत्ति आ जाये और इसके उपरान्त सुलह समझौते के आधार पर अधिक से अधिक उत्तराधिकार सम्बन्धी वादों का निस्तारण किया जा सके।

बैठक में यह भी निर्देशित किया गया कि कुछ वाद जैसे बंटवारे से संबंधित बाद अथवा धन वसूली संबंधित वादों का निस्तारण भी सुलह समझौते के आधार पर लोक अदालत में किया जा सकता है। सभी अधिकारियों से यह अपेक्षा की गयी कि दैनिक न्यायिक कार्य समाप्ति के उपरान्त यदि समय शेष हो तो पक्षकारों के मध्य सुलह वार्ता कराने का प्रयास किया जाये। 

इसके अतिरिक्त आगामी राष्ट्रीय लोक अदालत की सफलता हेतु समस्त न्यायिक अधिकारियों से उनके सुझाव लिये गये तथा समस्याओं पर विचार-विमर्श किया गया। इसके अतिरिक्त सचिव द्वारा जन सामान्य से अपील की है कि वह 14 मई 2022 को आयोजित होने वाली राष्ट्रीय लोक अदालत में अधिकाधिक संख्या में वादों को नियत करवाकर सुलह समझौता के माध्यम से निस्तारित करवाये और उक्त राष्ट्रीय लोक अदालत का लाभ उठाये।