भारत जल प्रभाव शिखर सम्मेलन

नदी संसाधनों का आवंटन क्षेत्रीय स्तरपर 

नियोजन व प्रबंधन विषय पर आधारित छठवां 

भारत जल प्रभाव शिखर सम्मेलन संपन्न हुआ 

जल संसाधनों के बेहतर प्रबंधन पर संकल्प हुआ 


नदियों एवं उसके संसाधनों के आधुनिक प्रबंधन 

नियोजन व संरक्षण परिचर्चा का आयोजन हुआ 

वैज्ञानिक ज्ञान और दृष्टिकोण का विकास हुआ 

गंगा नदी घाटी प्रबंधन योजना कार्य मज़बूत हुआ 


अब जरूरत है परिणामों को लागू करने व्यवहारिक

दृष्टिकोण पर ध्यान केंद्रित करने मंथन हुआ 

अनुसंधान एवं ज्ञापन पर समझौता हस्ताक्षर हुआ 

भारत जल प्रभाव शिखर सम्मेलन सफल हुआ 


लेखक- कर विशेषज्ञ, स्तंभकार, कानूनी लेखक, चिंतक, कवि, एडवोकेट किशन सनमुखदास भावनानी गोंदिया महाराष्ट्र