वाराणसी में रोहिंग्या और बांग्लादेशियों के खिलाफ बजा बिगुल, घुसपैठियों को देश से निकालने की ली गई शपथ

वाराणसी : भारत में रोहिंग्या और बांग्लादेशी मुसलमानों के अवैध घुसपैठ से बढ़ रहे सामाजिक और धार्मिक असंतुलन से नाराज होकर भारतीय अवाम पार्टी की राज्य इकाई ने लमही के सुभाष मंदिर के सामने घुसपैठियों के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए उनका पुतला फूंका। इससे संबंधित पत्र भी भारतीय अवाम पार्टी ने गृहमंत्री अमित शाह को भेजा। इस अवसर पर भारतीय अवाम पार्टी के कार्यकर्त्ताओं ने घुसपैठियों को बाहर निकालो, रोहिंग्या भारत छोड़ो, बंगलादेशियों बाहर जाओ का नारा लगाया। 

भारतीय अवाम पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष नजमा परवीन ने खुद ड्रम बजाकर बंगलादेशियों और रोहिंग्या मुसलमानों के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए कहा कि भारत को संगठित तरीके से बर्बाद करने का मंसूबा पाल रहे रोहिंग्या और बंगलादेशियों को हर कीमत पर हम लोग देश के बाहर खदेड़ने के लिए अपनी लामबंदी बढ़ा रहे हैं। इन घुसपैठियों की वजह से भारत में हिंसा बढ़ रही है। अवैध बांग्लादेशी और रोहिंग्या घुसपैठियों ने भारत का धार्मिक और सामाजिक संतुलन बिगाड़ कर रख दिया है। 

उन्होंने कहा रोहिंग्या और बांग्लादेशी मुसलमान अवैध घुसपैठ कर भारत विरोधी गतिविधियां चला रहे हैं। जगह-जगह इनकी बस्ती बनती चली गयी। मुस्लिम इलाकों में जिन लोगों ने बांग्लादेशियों को सहारा दिया, आज उन्हीं के लिए सिघ्रदर्द बन चुके हैं। अपराध, हिंसा, चोरी और उपद्रव के पीछे यही रोहिंग्या और बांग्लादेशी हैं जो फर्जी आधार कार्ड बनवाकर यहीं के नागरिक बन गए हैं। 

अपराध ये करते हैं और बदनाम भारतीय मुसलमान होता है। ये भारत के नहीं हैं लेकिन हमारे संसाधनों पर कब्जा कर रहे हैं। छोटे रोजगार पर कब्जा कर लिए हैं। बिजली-पानी पर अधिकार कर रहे हैं। हाल ही में रामनवमी और हनुमान जयंती के अवसर पर निकले शोभायात्रा पर पथराव करने वाले रोहिंग्या और बांग्लादेशी मुसलमान हैं।