तीखा तीर

सत्ता में मददांत भूले लोकतंत्र 

मिली जैसे ही पावर  पुलिस की 

रचने लगे विरोधी के विरुध परपंच 

जनता को अब सोचना  होगा 

कैसे मिटाया  जाये  षणयंत्र 

वोट की चोट से बचाओ लोकतंत्र 

   --- वीरेन्द्र तोमर