लक्ष्मनपुर मटेही में अमृत पंचवटी वाटिका का डीएम व एसएसपी ने किया उद्घाटन

भूसा दानवीरों को किया गया सम्मानित

अब तब दानवीरों से प्राप्त हुआ 1565 कु. भूसा

बहराइच । तहसील नानपारा के ब्लाक बलहा अन्तर्गत ग्राम पंचायत लक्ष्मनपुर मटेही में लगभग 7.5 हेक्टेयर भू-भाग़ पर स्थापित होने वाली अमृत पंचवटी वाटिका का जिलाधिकारी डॉ. दिनेश चन्द्र व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक केशव कुमार चौधरी ने उप जिलाधिकारी नानपारा अजित परेश, पुलिस क्षेत्राधिकारी नानपारा जंग बहादुर यादव, उपायुक्त मनरेगा के.डी. गोस्वामी, बीडीओ बलहा संदीप कुमार, मिहींपुरवा के रामेन्द्र कुमार सिंह कुशवाहा, रिसिया के विनोद कुमार सहित अन्य अधिकारियों, अध्यक्ष पिछड़ा वर्ग भाजपा कृपा राम वर्मा, क्षेत्रीय गणमान्य व संभ्रान्त तथा बड़ी संख्या में मौजूद ग्रामवासियों की मौजूदगी में विधिवत पूजा अर्चना के साथ वाटिका का उद्घाटन किया तथा सब के साथ मिलकर पौधरोपण भी किया। वाटिका के उद्घाटन अवसर पर लगभग 1000 पौध रोपित किये गये। कार्यक्रम के दौरान भूसा दानवीरों ग्राम गुलरा के राम नरायन यादव व ग्राम हाड़ा बसेहरी के प्रधान प्रतिनिधि मो. साजिद हुसैन को प्रशस्ति पत्र प्रदान कर सम्मानित भी किया गया।

इस अवसर पर जिलाधिकारी डॉ. दिनेश चन्द्र ने कहा कि पृथ्वी को बचाये रखने तथा पर्यावरण संरक्षण के लिये सबसे कारगर और सरल तरीका यह है कि उपलब्ध भूमि पर अधिक से अधिक से पौधरोपण किया जाय। कार्यक्रम स्थल पर मौजूद लोगों से जिलाधिकारी ने अपील की कि सभी लोग अपने तथा अपने प्रियजनों के नाम से पौध रोपण करें। डीएम ने कहा कि आज हम और और यहॉ पर एक बहुत मकसद के लिए जमा हुए है। हमें और आपकों यहॉ पर पौधरोपण करने का सौभाग्य प्राप्त हो रहा है। हमारे इस कार्य से पर्यावरण सुरक्षित रहेगा जिसका लाभ हमारी आने वाली पीढ़ीयों को भी मिलता रहेगा।

सभी लोगों से अपील की कि इस वाटिका में बरगद, पाकड़, कटहल, ऑवला, नीबू के साथ-साथ अपनी मर्ज़ी के पौध लगाये। क्योकि इस वाटिका से स्थानीय लोगों के साथ पशु पक्षियों को भी भोजन और आसरा मिलेगा। डीएम ने वाटिका में गौशाला स्थापित करने का भी सुझाव दिया ताकि यहॉ पर रोपित किये जाने वाले पौधों को जैविक खाद भी मिलती रहेगी। 

कार्यक्रम के दौरान मौजूद लोगों से जिलाधिकारी ने भूसा दान करने की अपील करते हुए कहा कि धार्मिक दृष्टिकोण से दान का बड़ा महत्व है। यहॉ पर मौजूद कुछ लोगों द्वारा भूसा के लिए नकद धनराशि दान करने के अनुरोध पर जिलाधिकारी ने सभी से अपील की कि दान की धनराशि से भूसा क्रय करके गौशाला को उपलब्ध करा दें। डीएम डॉ. दिनेश चन्द्र ने बताया कि अब तक जनपदवासियों को ओर से 1565 कु. भूसा दान किया जा चुका है। डॉ. चन्द्र ने सभी दानवीरों का आभार व्यक्त किया।