टूरिस्ट बस और ट्रक में टक्कर, दो श्रद्धालुओं की मौत

दर्जन भर घायल,काशी और अयोध्या दर्शन को जा रहे तीर्थयात्री

इटावा । इटावा में आगरा लखनऊ एक्सप्रेस वे पर बुधवार की सुबह दर्दनाक सड़क हादसा हो गया। तीर्थयात्रा के लिए निकली बस पर पीछे से ट्रक ने टक्कर मार दी। बुधवार की सुबह करीब तीन बजे टूरिस्ट बस में टक्कर लगी जिसकी वजह से इस हादसे में बस सवार दो तीर्थ यात्रियों की मौत हो गई है तो वहीं 12 से अधिक लोग घायल हो गए। बस में सवार यात्री दूसरे राज्य कर्नाटक से तीर्थ यात्रा पर निकले थे। मथुरा-वृंदावन से वाराणसी काशी विश्वनाथ व अयोध्या दर्शन के लिए जा रहे थे।

 बस में जोरदार टक्कर के बाद ट्रक डिवाइडर पर चढ़ गया और चालक परिचालक फरार हो गए है। पुलिस ने घायलों को अस्पताल में भर्ती कराकर उपचार शुरू करा दिया।शहर के थाना चौबिया क्षेत्र के अंतर्गत चौनल नंबर 113 पर आगरा से लखनऊ की तरफ कोल्हापुर- कर्नाटक की बस उत्तर प्रदेश में श्रद्धालुओं को लेकर बनारस जा रही थी। इस बस में करीब 50 यात्री सवार थे और बस को सिद्धेश्वर ट्रांसपोर्ट का चालक महादेव चला रहा था। 

ग्राम अगूपुर-गोपालपुर के पास जैसे ही बस पहुंची तभी चालक ने कुछ देर के लिए बस को साइट में रोक दिया, पीछे से तेज रफ्तार से आ रहे ट्रक ने पिछले हिस्से में टक्कर मार दी जिससे बस का पिछला हिस्सा बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया। ट्रक बस में टक्कर मारने के बाद डिवाइडर पर चढ़ गया। बस में टक्कर के बाद चालक परिचालक भाग गए। हादसे के बाद बस में बैठे श्रद्धालुओं में अफरा तफरी मच गई। 

जिनमें बिट्ठल मारुति सुतार उम्र 65 वर्ष व उनकी पत्नी सुलोचिना बिट्ठल उम्र 60 वर्ष निवासी बुगाटी आलूर थाना संकेश्वर जिला बेहगाव कर्नाटक की मौत हो गई है। साथ ही एक दर्जन से अधिक लोग घायल हो गए।बस में बैठे बाकी श्रद्धालुओं ने बताया कि वह देश में कई तीर्थ स्थानों के दर्शन करने के लिए निकले हैं। उन्होंने बताया कि महाराष्ट्र के पुणे, मध्य प्रदेश के उज्जैन के बाद मथुरा होते हुए वह अयोध्या, वाराणसी जा रहे थे। 

जिस समय यह हादसा हुआ उस समय सभी सो रहे थे क्योंकि सुबह का समय था। इस सड़क दुर्घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस पहुंची। थानाध्यक्ष अंकुश कुमार राघव व यूपीडा के सुरक्षा के अधिकारी राजेश प्रसाद पांडेय ने घायलों को एंबुलेंस की मदद से उत्तर प्रदेश आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय भिजवाया।