सऊदी अरब में शहबाज शरीफ एंड टीम को करना पड़ा लोगों की नाराजगी का सामना, 'चोर-चोर' कहकर हुआ स्वागत

रियाद : पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ की अगुवाई वाले प्रतिनिधिमंडल को सऊदी अरब में नाराजगी का सामना करना पड़ा। खबर है कि यहां एक मस्जिद में प्रवेश के साथ ही श्रद्धालुओं ने दल को लेकर 'चोर-चोर' के नारे लगाने शुरू कर दिए थे। खबर है कि इस घटना के बाद पुलिस ने कुछ लोगों को गिरफ्तार किया था। प्रधानमंत्री बनने के बाद शरीफ पहली बार सऊदी अरब दौरे पर गए हैं।

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें मस्जिद-ए-नवाबी में जाते हुए प्रतिनिधिमंडल का लोग विरोध कर रहे हैं। साथ ही उन्हें देखकर 'चोर-चोर' नारे भी लगाए जा रहे हैं। वीडियो में सूचना मंत्री मरियम औरंगजेब और नेशनल असेंबली के सदस्य शाहजैन बुगती नजर आ रहे हैं।

एजेंसी ने पाकिस्तान अखबार के हवाले से बताया कि औरंगजेब ने इस घटना के लिए नाम लिए बगैर इमरान खान पर निशाना साधा। उन्होंने कहा, 'मैं इस पवित्र भूमि पर इस व्यक्ति का नाम नहीं लेना चाहती, क्योंकि मैं इस जमीन का इस्तेमाल सियासत के लिए नहीं करना चाहती। लेकिन उन्होंने (पाकिस्तान) समाज को खत्म कर दिया।' पीएम शरीफ के साथ कई नेता और अधिकारी मौजूद थे।

यात्रा के दौरान शरीफ सऊदी अरब से 3.2 बिलियन डॉलर का अतिरिक्त पैकेज चाहते हैं। सऊदी अरब ने पहले ही कर्ज से जूझ रहे देश को 3 बिलियन डॉलर के डिपॉजिट दिए हैं। अनुमानों के अनुसार, पाकिस्तान को भुगतान संकट से बचने और विदेशी मुद्रा भंडार में और कमी को रोकने के लिए बिलियन डॉलर की जरूरत है। शरीफ ने 11 अप्रैल को पाकिस्तान के 23वें प्रधानमंत्री के रूप में शपथ ली थी।

एजेंसी के अनुसार, इस घटना के बाद पाकिस्तान में पूर्व डिप्टी स्पीकर कासिम सूरी पर इस्लामाबाद में हमला हुआ। खबर है कि जम्हूरी वतन पार्टी के शाहजैन बुगती के समर्थक ने सूरी को निशाना बनाया था। रिपोर्ट्स के अनुसार, सूरी घटना के वक्त अपने दोस्तों के साथ बैठे हुए थे।