किताबों की दुनिया

कितनी अच्छी है किताबों की दुनिया , हर सवाल के जवाबों की दुनिया,

जब भी कोई हो उलझन, सुलझाए यह किताबें, हर उलझन की सुलझन है किताबों की दुनिया।


रामायण,गीता, बाइबल और कुरान, भागवत,वेद पुराण ग्रंथ है अनेकों महान,

मगर आज की पीढ़ी देखो इन सब नामों से बिल्कुल है अनजान।


किताबें खरीदने के लिए कभी लगा करती थी हर दुकान पर भीड़,

लेकिन आज के युग में इन किताबों की किसी को नहीं नीड।


आ गया है डिजिटल युग, नहीं रहा युग किताबों का, 

भूल गए हैं लोग नाम ग्रंथों और वेद-पुराणों का।


है ख़ज़ाना ज्ञान का इन किताबों में, हर सवाल का जवाब इन किताबों में,

है कामयाबी और सुनहरा भविष्य इन किताबों में।


किताबों से तुम कर लो प्यार, किताबें ही दो उपहार, 

किताबे ही लो उपहार, किताबों का है सुनहरा संसार, 

किताबों से तुम कर लो प्यार।


प्रेम बजाज ©®

जगाधरी ( यमुनानगर)