टीम इंडिया के लिए स्मृति मंधाना और हरमनप्रीत कौर ने जड़ा शानदार शतक, फैंस को आई कोहली-धोनी की याद

भारत ने वेस्टइंडीज के खिलाफ आईसीसी महिला वर्ल्ड कप 2022 के 10वें मुकाबले में 317 रनों का विशाल स्कोर खड़ा कर दिया है। टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी टीम इंडिया के लिए स्मृति मंधाना और हरमनप्रीत कौर ने शानदार शतक जड़ा, जिसकी दम पर भारत पहली बार वर्ल्ड कप में 300 का आंकड़ा पार करने में कामयाब रहा। मंधाना ने 119 गेंदों पर 13 चौकों और दो छक्कों की मदद से 123 रन बनाए, वहीं हरमनप्रीत कौर ने 107 गेंदों पर 10 चौकों और दो छक्कों की मदद से 109 रनों की पारी खेली।

मंधाना और हरमनप्रीत की इस बारी के बाद फैंस को विराट कोहली और महेंद्र सिंह धोनी की याद आई। दरअसल, स्मृति मंधाना और विराट कोहली का जर्सी नंबर 18 है, वहीं हरमनप्रीत कौर और महेंद्र सिंह धोनी 7 नंबर की जर्सी पहनते हैं। धोनी ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से तो संन्यास ले लिया है मगर वह आईपीएल में अभी भी इसी नंबर की जर्सी को पहनकर खेलते हैं। 

स्मृति मंधाना के शतक के बाद भारतीय पूर्व सलामी बल्लेबाज वसीम जाफर ने लिखा "तो भारत के 18वें नंबर के खिलाड़ी ने आज शतक जड़ा है। इसी नंबर का खिलाड़ी भारत के लिए पिंक बॉल टेस्ट में एकमात्र शतक लगाने वाला खिलाड़ी है।" यहां जाफर विराट कोहली की बात कर रहे हैं। भारत को इस विशाल स्कोर तक पहुंचाने में सलामी बल्लेबाज स्मृति मंधाना और हरमनप्रीत का अहम रोल रहा। दोनों खिलाड़ियों ने शतक जड़ने के साथ चौथे विकेट के लिए रिकॉर्ड 184 रनों की साझेदारी की। यह महिला वर्ल्ड कप में किसी भी विकेट के लिए भारत की सबसे बड़ी साझेदारी है। 

टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी टीम इंडिया को यस्तिका भाटिया (31) और स्मृति मंधाना ने तेज तर्रार शुरुआत दी। यस्तिका का विकेट गिरने के बाद बल्लेबाजी करने आईं मिताली राज 5 और दीप्ति शर्मा 15 रन बनाकर सस्ते में पवेलियन लौट गईं। एक समय ऐसा था जब भारत ने अच्छी शुरुआत के बावजूद 78 रन पर अपने तीन विकेट खो दिए थे।

तब बल्लेबाजी करने आईं हरमनप्रीत कौर ने मंधाना के साथ ना सिर्फ टीम इंडिया को संभाला बल्कि बड़े स्कोर तक लेकर गईं। मंधाना और हरमनप्रीत की इस लाजवाब साझेदारी के दम पर भारत पहली बार वर्ल्ड कप में 300 का आंकड़ा पार करने में कामयाब रहा है। हरमनप्रीत कौर का यह वर्ल्ड कप में तीसरा शतक है और वह ऐसा करने वाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी बनीं है, वहीं मंधाना का यह वर्ल्ड कप में दूसरा शतक है।