इंटिमेट हाइजीन टिप्स : कहीं आप भी तो नहीं करती प्राइवेट पार्ट की सफाई में ये गलतियां

कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप किस उम्र की है... योनि स्वच्छता हर महिला के लिए जरूरी है। खासकर पीरियड्स और इंटिमेट के समय महिलाओं को साफ-सफाई का ज्यादा ध्यान रखना चाहिए क्योंकि इस वक्त बैक्टीरियल इंफेक्शन का खतरा अधिक होता है। अगर आप प्राइवेट पार्ट की सफाई में ध्यान नहीं देती तो इससे प्रजनन स्वास्थ्य से लेकर योनि को कई तरह के नुकसान हो सकते हैं। 

40% महिलाएं यूटीआई से प्रभावित

शोध की मानें तो करीब 40% महिलाएं और 12% पुरुष यूरिनरी ट्रैक इन्फैक्शन (यूटीआई) के कम से कम 1 लक्षण का अनुभव जरूर करते हैं। जबकि 40% प्रभावित महिलाएं बार-बार यूटीआई से पीड़ित होती हैं, जिसका कारण हाइजीन का ख्याल ना रखना है।

तो आइए जानते हैं कि योनि को साफ और स्वस्थ रखने के लिए क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए।

सही अंडरगारमेंट चुनें

अंडरगारमेंट्स खरीदते वक्त महिलाएं इस बात का ध्यान रखें कि उसकी फिटिंग सही हो। साथ ही कॉटन फैब्रिक वाली अंडरगारमेंट चुनें, खासकर गर्मियों में। इससे स्किन रैशेज जैसी समस्याएं नहीं होती और इंफेक्शन से भी बचाव रहता है।

कीगल एक्सरसाइज करें

केगेल एक्सरसाइज से पेल्विक एरिया की मांसपेशियां मजबूत होती है। साथ ही यह यौन स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में भी मददगार है।

पीरियड्स के दौरान कई बार धोएं

पीरियड्स के दौरान योनि को काफी साफ-सफाई का खास ख्याल रखें। हो सके तो इसे दिन में 2-3 बार गुनगुने पानी से सफाई करें। इससे आप फ्रेश और क्लीन फील करेंगी।

डचे का प्रयोग न करें

योनि की सफाई के लिए डचे का यूज ना करें क्योंकि इससे पीएच स्तर प्रभावित हो सकता है। साथ ही इससे इंफेक्शन और यूटीआई का खतरा भी रहता है।

खुशबुदार जैल, वाइप्स और साबुन

योनि में पीएच स्तर और बैक्टीरिया का संतुलन बनाए रखना है तो केमिकल युक्त उत्पादों से दूर रहें। एक्सपर्ट के अनुसार, योनि या उसके आसपास सुगंधित स्प्रे, पाउडर, साबुन और जैल नहीं लगाना चाहिए।

हैल्दी वैजाइना के लिए सही डाइट लेना भी जरूरी

भोजन में लहुसन, फल-सब्जियां आदि शामिल करें। साथ ही एक दिन में कम से कम 8-9 गिलास पानी पीएं। यह प्राइवेट पार्ट को नेचुरली साफ रहने में मदद करता है। 

इसके अलावा महिलाएं समय-समय पर डॉक्टर से जांच करवाती रहें, ताकि अगर कोई समस्या हो तो उसकी सही वक्त पर इलाज किया जा सके।